Oppo Mirror 3 रिव्यू

किसी भी स्मार्टफोन में सबसे ज्यादा किसी फीचर की मांग होती है तो वो है एक अच्छा कैमरा। कई बार हमारे पाठकों की मांग होती है कि हम उन्हें 20,000 रुपये के बजट के अंदर कोई स्मार्टफोन सुझाएं, जो बेहतरीन फोटो लेता हो। सेंसर्स से लैस कुछ फोन मार्केट में उपलब्ध हैं, जो डेलाइट में बेहतरीन इमेज लेना का काम करते हैं, पर इनमें ज्यादातर कम लाइट वाली परिस्थितियों में उम्मीद से खराब फोटो लेते हैं। Oppo का मानना है कि उसने इस  
समस्या का जवाब अपने लेटेस्ट मिडरेंज स्मार्टफोन Oppo Mirror 3 के जरिए ढूंढ लिया है।

Oppo ने Mirror 3 प्रोडक्ट में 8 मेगापिक्सल का कैमरा दिया है, जो backside-illuminated (BSI) Sony IMX179 sensor से लैस है। इस सेंसर को कम रोशनी में बेहतरीन परफॉर्मेंस के लिए जाना जाता है। दूसरी तरफ, कम के कम कागजी तौर पर इसकी कीमत को देखते हुए Oppo Mirror 3 के स्पेसिफिकेशन्स उम्मीद से कम है। हमने इस डिवाइस के साथ कुछ वक्त बिताया ताकि यह पता लगाया जा सके कि कैमरे की परफॉर्मेंस इतनी अच्छी है कि  
इस प्रोडक्ट को खरीदा जाए।

लुक और डिजाइन
स्मार्टफोन बनाते वक्त डिजाइन को लेकर Oppo की नजाकत और छोटी-छोटी बारीकियों पर ध्यान देना, यह हमें पसंद आया। भले ही Mirror 3 का डिजाइन किसी और कैंडीबार फोन से बहुत अलग ना हो, लेकिन यह अपनी कीमत से हिसाब से ज्यादा प्रीमियम नजर आता है। सबसे अहम बात यह है कि यह स्मार्टफोन थोड़ा छोटा है, यह जानते हुए कि हम लोग इन दिनों 5 इंच या उससे बड़े स्क्रीन के फोन का इस्तेमाल आम तौर पर करते हैं, यह एक सुखद बदलाव है। हम इसे बड़ी आसानी से पॉकेट से निकाल पा रहे थे और एक ही हाथ में रखकर इस्तेमाल भी कर पाए। हकीकत यह है कि फोन का पिछला हिस्सा थोड़ा घुमावदार (कर्वी) है, जिसके कारण इसे हाथों में पकड़ना अधिक सुविधाजनक हो जाता है।

Oppo Mirror 3 एक कॉम्पेक्ट फोन है। इसका डाइमेंशन 137.7×68.8×8.9mm है और वजन 130 ग्राम। फोन की बॉडी पूरी तरह से प्लास्टिक से बनाई गई है, लेकिन यह काफी मजबूत नजर आता है। हालांकि, दायीं तरफ बने पावर बटन और वॉल्यूम रॉकर को बनाने के लिए सस्ते प्लास्टिक का इस्तेमाल किया गया है।

इन बटन को दबाते वक्त हमें ऐसा एहसास हुआ कि यह टूट जाएगा, इसकी वजह थी अलग सा क्लिक साउंड। माइक्रो यूएसबी पोर्ट और फोन कॉल के लिए माइक्रोफोन फोन के निचले हिस्से में बने हुए हैं। दूसरी तरफ, फोन के टॉप में 3.5mm ऑडियो पोर्ट बना हुआ है। ऊपरी हिस्से में एक और माइक्रोफोन है जो वीडियो कैपचर के दौरान आवाज रिकॉर्ड करने के काम करता है। साथ में इनफ्रारेड एमिटर भी है।

स्क्रीन के निचले हिस्से में कैपेसिटिव बटन बने हुए हैं, जिसके जरिए ऑपरेटिंग सिस्टम में नेविगेट कर सकते हैं। ईयरपीस, लाइटसेंसर और फ्रंट कैमरा स्क्रीन के ऊपर बने हुए हैं। रियर का लुक टेक्सचर्ड है, लेकिन इसके ऊपर ग्लॉस की कोटिंग है जिस कारण से यह टच करने में स्मूथ नजर आता है। कैमरा और फ्लैश के चारों तरफ मेटालिक रिंग है। स्पीकर के लिए फोन के पिछले हिस्से में मशीन से बनाए हुए सात छोटे छेद हैं। रियर कवर के अंदर बैटरी का कंपार्टमेंट, दो माइक्रो सिम कार्ड स्लॉट और माइक्रोएसडी कार्ड स्लॉट बना हुआ है।

स्पेसिफिकिशेन्स और सॉफ्टवेयर
फीचर की बात करें तो हमने बताया था कि Oppo Mirror 3 में कोई भी नया स्पेसिफिकेशन नहीं है। फोन में 1.2GHz quad-core Qualcomm Snapdragon 410 SoC प्रोसेसर है, जिसमें Adreno 306 graphics इंटिग्रेटेड है। फोन में 1जीबी रैम और 8जीबी इंटरनल स्टोरेज है। 8जीबी आपको कम नजर आ सकता है, पर आप इसे माइक्रोएसडी कार्ड के जरिए 128जीबी तक बढ़ा सकते हैं। इसके साथ Mirror 3 माइक्रो यूएसबी पोर्ट के जरिए  
यूएसबी होस्ट का काम कर सकता है। ये सारे स्पेसिफिकेशन्स इतने शानदार नहीं है, क्योंकि इससे कम दाम वाले बाकी स्मार्टफोन Snapdragon 410 SoC प्रोसेसर के साथ आ रहे हैं और 2जीबी रैम तो इन दिनों आम फीचर है।

Mirror 3 के 8 मेगापिक्सल के रियर कैमरे में f/2.0 का एपरचर, 5P लेंस और ब्लू लाइट सेंसर है। 5 मेगापिक्सल के फ्रंट कैमरे का इस्तेमाल सेल्फी लेने के लिए किया जा सकता है। सिर्फ एक सिम कार्ड का इस्तेमाल 3जी नेटवर्क से कनेक्ट करने के लिए किया जा सकता है। बाकी कनेक्टिविटी ऑप्शन की बात करें तो फोन में इंफ्रारेड, ब्लूटूथ Bluetooth 4.0 और Wi-Fi a/b/g/n विकल्प हैं। फोन में 2,000mAh की बैटरी है।

4.7 इंच के IPS एलसीडी पैनल का रिजॉल्यूशन 720×1280 है, जबकि इसकी पिक्सल डेनसिटी (घनत्व) 312ppi है।  स्क्रीन के ऊपर Corning का Gorilla Glass 3 प्रोटेक्शन है। फोन का डिस्प्ले ब्राइट है और कलर सेचुरशन भी ठीक-ठाक है। व्यूइंग एंगल्स और सीधे धूप में स्क्रीन अच्छा काम करता है। वैसे भी Oppo ने कभी अपने फोन के डिस्प्ले को लेकर कभी-कभार ही निराश किया है। पर एक बात यह भी है, कुछ लोग यह कह सकते हैं कि इस प्राइस  
रेंज के दूसरे स्मार्टफोन की तुलना में इस फोन के डिस्प्ले स्पेसिफिकेशन्स औसत से भी कम हैं।

Oppo ने एंड्रॉयड 4.4.4 किटकैट के ऊपर अपने Color OS 2.0 स्किन का इस्तेमाल किया है। लॉलीपॉप ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल नहीं करना Mirror 3 की बहुत बड़ी कमी है। Color OS 2.0 काफी पॉलिश्ड, क्लीन और लाइट है, लेकिन यह कहीं से भी Android से मेल नहीं खाता। Color OS 2.0 में कुछ सुधार किया गया है और कुछ ट्रिक्स भी डाले गए हैं, पर ये सब इस प्रोडक्ट के साथ एक्सक्लूसिव नहीं हैं। उदाहरण के तौर पर, हम स्टेटस बार  
में हम अपने 3जी कनेक्शन की स्पीड को मॉनीटर कर सकते हैं। इसके साथ गेस्चर और मोशन ट्रिक्स ने भी ज्यादातर समय अच्छा काम किया। Oppo ने यूजर्स को अपनी चाहत के हिसाब से थीमस में बदलाव करने का विकल्प भी दिया है।

कैमरा
कैमरा ऐप में कई तरह के फीचर हैं और मोड्स भी ऐप के अंदर ही मौजूद हैं, जिसे यूजर अपनी प्रेफरेंस के अनुसार जोड़ और हटा सकते हैं। एचडीआर, पनोरमा और एक्सपर्ट मोड भी मौजूद हैं। हालांकि, इस ऐप में कलरफुल नाइट, डबल एक्सपोजर और GIF जैसे अनोखे फीचर हैं। कलरफुल नाइट मोड के जरिए कम लाइट में लिए गए फोटो के कलर को और बेहतर किया जा सकता है। डबल एक्सपोजर के जरिए आप दो फोटो खींच सकते हैं और एक को दूसरे  
के ऊपर सूपरइम्पोज कर सकते हैं, यह आर्टिस्टिक इफैक्ट देने के काम आता है। GIF मोड के जरिए आप मूविंग पिक्चर क्रिएट कर सकते हैं। सामान्य रोशनी में ली गई तस्वीरों में हर डिटेल नजर आए, साथ में यह पिक्सलेटेड नहीं थे। हालांकि, ओवरऑल टोन हमारी चाहत से ज्यादा वार्म था।  

फोटो को ओवरएक्सपोज होने से बचाने के लिए आपको HDR की इस्तेमाल करने की जरूरत पड़ेगी। टिपः आम धारणा से उलट आप तेज धूप से ज्यादा बेहतर तस्वीरें छाया में आती हैं।

कम रोशनी में BSI सेंसर अपना काम बखूबी करता है और हमें कई बेहतरीन शॉट्स मिले। इन फोटो में न्यॉज को महसूस किया जा सकता है, पर यह दूसरे स्मार्टफोन के कैमरे से लिए गए फोटो की तुलना में कहीं बेहतर है। हकीकत में, कैमरे की लो लाइट परफॉर्मेंस Huawei Honor 6 Plus के बराबर है और यह अपने आप में बहुत बड़ी उपलब्धि है।

5 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा सेल्फी लेने के दौरान बेहतरीन काम करता है, ब्यूटीफाई इफैक्ट को अप्लाई करने की जरूरत भी नहीं पड़ती। कैमरे से 1080p का कैपचर किया गया वीडियो उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा, खासकर इसलिए कि उचित रोशनी के बावजूद कई एरिया अंडरएक्सपोज्ड थे।

परफॉर्मेंस
परफॉर्मेंस को लेकर हमें कोई शिकायत नहीं है, लेकिन Mirror 3 पावरहाउस बिल्कुल नहीं है। यह बेसिक टास्क को अच्छे से निभाता है लेकिन जैसे ही कोई इंटेसिव टास्क दिया जाता है, यह पिछड़ने लगता है। हैवी ग्राफिक्स Asphalt 8 गेम खेलते वक्त यह कमी साफ नजर आई।

AnTuTu और GFXbench टेस्ट में Mirror 3 को क्रमशः 19,840 और 10,974 का स्कोर आया, जो SoC पर बने दूसरे स्मार्टफोन के टेस्ट रिजल्ट से थोड़ा कम है। ग्राफिक्स बेंचमार्क टेस्ट 3DMark Ice Storm में फोन 5,236 का स्कोर आया, वहीं फोन ने GFXbench टेस्ट में 9.5fps का रिजल्ट दिया।

Mirror 3 को वीडियो चलाने में कोई दिक्कत नहीं आई। 40Mbps के हैविली इनकोडेड सैंपल फुटेज को भी चलाने में कोई प्रोब्लम नहीं आई। फोन का स्पीकर जरूरत के हिसाब से लाउड है और फोन के साथ आने वाले ईयरफोन्स आम इस्तेमाल के लिए पर्याप्त है। फोन कॉल के दौरान आवाज की क्वालिटी अच्छी है और हमें कॉल ड्रॉप होने की समस्या का सामना नहीं करना पड़ा। फोन की बैटरी वीडियो लूप बैटरी टेस्ट पर 8 घंटे और 1 मिनट तक चली, जो  
2,000mAh की बैटरी क्षमता वाले फोन थोड़ा आश्चर्यजनक था।

हमारा फैसला
Oppo Mirror 3 की कीमत है 16,990 रुपये, जो प्रोडक्ट की वेल्यू से थोड़ा ज्यादा है। हालांकि, प्राइमरी कैमरे से कम रोशनी में बेहतरीन फोटो खींच सकते हैं और यह खासियत कई खरीददार को लुभाने का काम करे। यह फोन आप तभी खरीदें, जब आप इस्तेमाल फोटो खींचने के लिए करना चाहते हैं या फिर आप फोन को अपने बाकी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के लिए इंफ्रारेड रिमोट कंट्रोल की तरह इस्तेमाल करना चाहते हैं।


Source link

Total Page Visits: 27 - Today Page Visits: 2