OnePlus 3T Review in Hindi, वनप्लस 3टी का रिव्यू

बात करें वनप्लस द्वारा बनाए गए प्रोडक्ट की या फिर इन्हें बेचने के तरीके की तो वनप्लस हमेशा से कुछ नया करती रही है। भारत जैसे बाजार में,जहां कीमत बहुत मायने रखती है वहां कंपनी द्वारा खुद को स्थापित कर लेना कोई चौंकाने वाली बात नहीं है। हर साल कंपनी ने करीब दूसरे स्मार्टफोन से आधे दाम में टॉप स्पेसिफिकेशन वाले प्रोडक्ट पेश किए हैं। और शायद वनप्लस के नाम कमाने के पीछे यही मुख्य वजह भी है।

सच कहें तो वनप्ल्स 2 (रिव्यू) में कुछ भी अनोखा नहीं था लेकिन वनप्लस 3 के साथ कंपनी ने इस निराशा को खत्म कर दिया। हमारे रिव्यू के दौरान हमें यह फोन ख़ासा पसंद आया था और 30,000 रुपये कम कीमत वाले फोन के सुझाव में हमारी नज़र में यह पहले नंबर पर आता है। वनप्लस द्वारा सिर्फ पांच महीने पुराने एक कामयाब स्मार्टफोन को अपग्रेड करने का फैसला चौंकाने वाला था। वनप्लस 3टी की बिक्री अमेज़न पर 29,999 रुपये में शुरू हो चुकी है। पुराने और नए फोन में स्पेसिफिकेशन और फ़ीचर में बहुत ज्यादा फर्क नही है। और जब हमने पहली बार नए फोन को हाथ में लिया तो पुराने फोन जैसा ही अहसास हुआ। हमें पहले से पता है कि यह फोन अच्छा है, लेकिन क्या नया अपग्रेडेड वेरिएंट को खरीदने के मामले में पिछले फोन से ज्यादा तवज़्ज़ो देनी चाहिए? आइये जानते हैं।

वनप्लस 3टी डिज़ाइन व बिल्ड
स्मार्टफोन की बनावट अब किस दौर में पहुंच गई है, इस बारे में बात करना आश्चर्यजनक है और वनप्लस 3टी इसका एक और शानदार उदाहरण है। इसकी बॉडी एल्युमिनियम के एक सिंगल ब्लॉक से बनी है जिससे यह फोन सैमसंग, एचटीसी या ऐप्पल द्वारा बनाए गए किसी फ्लैगशिप फोन जैसा अहसास देता है। घुमावदार किनारों के चलते डिवाइस को हाथ में पकड़ना सुविधाजनक है। फोन के बटन को चलाना भी आसाना है। बांयीं तरफ दिए गए एक अलर्ट स्लाइडर की मदद से साइलेंट व डू-नॉट-डिस्टर्ब मोड को टॉगल कर सकते हैं, जिनमें से हर एक को कस्टमाइज़ किया जा सकता है। लेकिन इस फिज़िकल स्लाइडर की वजह से डीएनएडी को ऑन होने के लिए ऑटोमेटिकली शेड्यूल नहीं किया जा सकता, जो हमें थोड़ा नापसंद आया।

5.5 इंच एमोलेड डिस्प्ले वाले डिस्प्ले में वनप्लस 3 की तरह ही फुल एचडी रिज़ॉल्यूशन और कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास 4 दिया गया है। पिक्सल डेनसिटी ज्यादा है जिससे टेक्स्ट व आइकन साफ दिखते हैं। और तस्वीरों के रंग भी स्पष्ट नज़र आते हैं। हमने देखा कि इस तरह के पैनल पर नियॉन ग्रीन कलर की डार्क थीम सबसे बेहतर दिखती है। फोन में पुराने वेरिएंट की तरह ही कलर टेम्परेचर ठीक है लेकिन इसे स्क्रीन कैलिब्रेशन सेटिंग में जाकर फिक्स किया जा सकता है।
 

OnePlus

3टी में डिस्प्ले पहले से ज्यादा चमकदार है और दोनों फोन को एक साथ रखने पर ऐसा देखा जा सकता है। कलर कैलिब्रेशन के अलावा, टच एक ऐसा डिपार्टमेंट है जो हमें थोड़ा अजीब लगा। टाइपिंग के दौरान यह और निराश करता है और कीबोर्ड के दौरान यह स्टिकी लगते हैं। फोन कभी-कभी कुछ स्वाइप जेस्चर भी गलत पहचान कर लेता है, और कई बार नोटिफिकेशन शेड को खोलने के दौरान हमने गूगल सर्च को खोल दिया। वनप्लस ने इस समस्या को स्वीकार किया है और एंड्रॉयड नूगा अपडेट के आने के साथ ही इस समस्या के सुलझने की उम्मीद है।

फिंगरप्रिंट सेंसर  उंगलियों की पहचान तेजी से करता है और इससे ऐप को भी लॉक किया जा सकता है। इसमें एक कैपेसिटिव होम बटन भी है। और इसके दोनों तरफ दो बटन हैं जो कि बैकलिट हैं। इन बटन के फंक्शन को स्वैप किया जा सकता है और आप सुविधानुसार, नेविगेशन के लिए ऑनस्क्रीन बटन को इनेबल किया जा सकता है। नीचे की तरफ स्पीकर है। फोन में नीचे की तरफ एक टाइप-सी पोर्ट और 3.5 एमएम हेडफोन सॉकेट दिया गया है।

फोन में दिया गया गनमेटल कलर के रियर से फोन की ख़ूबसूरती बढ़ जाती है। कैमरा आगे की तरफ निकला हुआ है लेकिन सैफ़ायर क्रिस्टल ग्लास के चलते स्क्रैच की चिंता करने की जरूरत नहीं है। बॉक्स में, आपको 20 वाट पावर अडेप्टर, एक टाइप-सी केबल, एक सिम-इजेक्टर और एक दिशा-निर्देश पुस्तिका मिलेगी। एक्सेसरी की पैकेजिंग और क्वालिटी शानदार है और इसको लेकर हमें कोई शिकायत नहीं है। वनप्लस 3टी का डाइमेंशन पुराने वनप्लस 3 की तरह ही है।
 

OnePlus

वनप्लस 3टी स्पेसिफिकेशन और फ़ीचर
इस फोन में पिछले स्मार्टफोन से बेहतर प्रोसेसर दिया गया है। वनप्लस 3टी में क्वालकॉम का सबसे लेटेस्ट स्नैपड्रैगन 821 चिपसेट दिया गया है। इससे फोन के प्रोसेसिंग पावर, बैटरी बचत और यूज़र अनुभव 10 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। इस फोन में 6 जीबी एलपीडीडीआर4 रैम व 128 जीबी इनबिल्ट स्टोरेज है। आज हम जिस यूनिट को रिव्यू कर रहे हैं वो प्रीमियम वेरिएंट है और इसकी कीमत 34,999 रुपये है लेकिन वनप्लस 3टी के 64 जीबी वेरिएंट की कीमत 29,999 रुपये है।

दूसरे स्पेसिफिकेशन की बात करें तो इस फोन में वाई-फाई 802.11एसी, ब्लूटूथ 4.2, यूएसबी ओटीजी, एनएफसी और जीपीएस जैसे फ़ीचर दिए गए हैं। फोन में एफएम नहीं है। वीओएलटीई के साथ यह फोन 4जी सपोर्ट करता है। वनप्लस 3टी ऑक्सीजनओएस (3.5.3) पर चलता है जो एंड्रॉयड मार्शमैलो आधारित 6.0.1 आधारित है। ये फ़ीचर पिछले वनप्लस 3 की तरह ही हैं और इन्हें सिर्फ रीडिज़ाइन किया गया है। होम स्क्रीन पर दांयीं तरफ स्वाइप करने पर ‘शेल्फ’ को एक्सेस किया जा सकता है। यह एक कस्टमाइज़ कर सकने वाला स्क्रीन है जो क्विक एक्सेस के लिए विज़िट बनाता है। होमस्क्रीन पर नीचे व ऊपर की तरफ स्वाइप करने पर क्रमशः नोटिफिकेशन शेड व गूगल सर्च को एक्सेस किया जा सकता है।
 

OnePlus

कैपेसिटिव बटन से तीन तरह के काम कर सकते हैं। इनके रेगुलर फंक्शन के लिए देर तक दबाए रखने व दो बार दबाना होता है। ‘जेस्चर’ मेन्यू से की सारे शॉर्टकट को प्ले किया जा सकता है। बात करें ऐप की तो, फोन में वनप्लस कम्युनिटी ऐप, अमेज़न, किंडल, गूगल सूट और बेसिक ऐप जैसे कि फाइल मैनेजर व वॉयस रिकॉर्डर पहले से इंस्टॉल आते हैं।

वनप्लस 3टी परफॉर्मेंस
जनरल ऐप व सिस्टम परफॉर्मेंस निश्चित रूप से शानदार है और इसका श्रेय 4 जीबी रैम को जाता है। इसके अलावा फोन में दी गई स्टोरेज के चलते आपको कभी स्पेस की दिक्कत नहीं होती। नए क्वालकॉम प्रोसेसर से आप बिना किसी परेशानी के कुछ भी चला सकते हैं। हेवी गेम जैसे एसफाल्ट 8 अच्छे से चलते हैं। गंभीर इस्तेमाल के दौरान भी फोन कभी भी ज्यादा गर्म नहीं होता जो बेहद लुभावना है।

वनप्लस 3टी ने बेंचमार्किंग टेस्ट में भी शानदार आंकड़े हासिल किए। डिस्प्ले के शानदार कलर रीप्रोडक्शन के चलते फोन में वीडियो देखना शानदार होता है। स्पीकर काफी तेज है और आसपास आने वाली आवाज़ पर ऑडियो बहुत साफ सुनाई नहीं देती। डिस्प्ले को सूरज की रोशनी में भी आसानी से पढ़ा जा सकता है और वाइड व्यूइंग एंगल लेंस भी अच्छे हैं। फोन में 4के वीडियो भी आसानी से चलती है। लेकिन हमें फोन में स्पीकर ग्रिल को लेकर शिकायत है जो गेम खेलते या वीडियो देखते समय हथेली से छिप जाता है।
 

OnePlus

वनप्लस 3 की तुलना में नए फोन में दूसरा बड़ा बदलाव फ्रंट कैमरे में किया गया है। वनप्लस 3टी में सैमसंग का 16 मेगापिक्सल सेंसर है जो अपर्चर एफ/2.0 व फिक्स्ड फोकस से लैस है। कैमरे से ली गईं तस्वीरें अच्छी रोशनी में डिटेलिंग के साथ आती हैं। और कम रोशनी में भी तस्वीरों की क्वालिटी ठीकठाक रहती है। तस्वीरों में थोड़ा नॉयज़ दिखता है लेकिन कलर नॉयज़ नहीं है इसलिए तस्वीरें इस्तेमाल के लायक रहती हैं।

वनप्लस 3टी में पुराने फोन की तरह ही ऑप्टिकल इमेज स्टेबिलाइजेशन, पीडीएएफ और अपर्चर एफ/2.0 के साथ 16 मेगापिक्सल का रियर कैमरा है। लैंडस्केप व मैक्रो तस्वीरें डिटेलिंग के साथ आती हैं और कलर रीप्रोडक्शन भी अच्छा आता है। ऑटो एचडीआर मोड अच्छे से काम करता है और फोन में एक एचक्यू मोड भी मिलेगा जो एक ही फ्रेम वाली कई तस्वीरों को इकट्ठा कर नॉयज़ कम करता है।
 

img
img
img
img

हमें कैमरे से कम रोशनी में ली गईं तस्वीरें पसंद आईं। तस्वीरें बहुत ज्यादा नॉयज़ी नहीं होतीं और उनमें डिटेलिंग भी ठीकठाक रहती है। शूटिंग मोड में स्लो-मोशन वीडियो, टाइमलैप्स, मैनुअल और पैनोरमा शामिल हैं। इसके साथ ही कैमरे से 1080 पिक्सल पर 60 फ्रेम प्रति सेकेंड पर वीडियो शूट कर सकते हैं। फुल एचडी व 4के वीडियो क्वालिटी भी बेहद अच्छी है।

इस फोन में तीसरा गौर करने वाला बदलाव है 3400 एमएएच की बैटरी। हमारे एचडी वीडियो लूप टेस्ट में फोन की बैटरी 14 घंटे और 3 मिनट तक चला जो ठीक है। स्टैंडर्ड इस्तेमाल के दौरान हम फोन को आसानी से डेढ़ दिन तक चला सके। डैश चार्जिंग तकनीक शानदार तरीके से काम करती है और 35  मिनट में ही फोन 45 प्रतिशत तक चार्ज हो जाता है और एक घंटे में फोन फुल चार्ज हो जाता है।

हमारा फैसला
बात करें स्पेसिफिकेशन  की तो वनप्लस 3टी में बहुत बड़ा बदलाव नहीं किया गया है और यह अपने पिछले स्मार्टफोन वनप्लस 3 का एक अपग्रेडेड वेरिएंट ही है। फोन में मुख्य तौर पर बेहतर बैटरी, ज्यादा रिज़ॉल्यूशन वाला फ्रंट कैमरा व एक तेज सीपीयू है। पिछले स्मार्टफोन की तुलना में नए फोन की ऑल-राउंडर परफॉर्मेंस में नए फर्मवेयर का भी अहम योगदान है।

फोन की मौज़ूदा कीमत को देखते हुए आप वनप्लस 3 को नज़रअंदाज करें और अतिरिक्त 2,000 रुपये खर्च करके आप वनप्लस 3टी खरीदें। हालांकि, हमें लगता है कि वनप्लस 3टी के प्रीमियम वेरिएंट के लिए 5,000 रुपये ज्यादा खर्च करना अच्छा होगा। हमारी बात को गलत ना समझें और 34,999 रुपये में भी यह फोन अच्छा तो है लेकिन अगर फोन में क्वाडएचडी डिस्प्ले दिया गया होता तो बेहतर रहता।

वनप्लस 3टी में कोई ख़ामी निकालना मुश्किल है और इसमें पुराने फोन की तरह सब कुछ शानदार है। और यह वनप्लस 3टी से ज्यादा बेहतर साबित होता है। कम रोशनी में कैमरा परफॉर्मेंस बेहतर रहती है और हमें फोन में एक्सपेंडेबल स्टोरेज के ना होने से कोई शिकायत नहीं है। अगर कमी की बात करें तो एफएम रेडियो के ना होने से कुछ लोगों को निराशा हो सकती है। वहीं टाइपिंग के दौरान टच में समस्या लोगों को परेशान कर सकती है, हालांकि वनप्लस ने नूगा अपडेट के समय इसे सुलझाने का वादा किया है।

अगर आपका बजट सीमित है और आप सबसे बेहतर एंड्रॉयड फोन का मजा लेना चाहते हैं तो वनप्लस 3टी इकलौता स्मार्टफोन है।


Source link

Total Page Visits: 87 - Today Page Visits: 2