Moto G4 Plus Review in Hindi, मोटो जी4 प्लस का रिव्यू

यह बात किसी से छिपी नहीं है कि भारत में मोटोरोला के मोटो सीरीज स्मार्टफोन खासे पसंद किए जाते हैं। मोटो जी और मोटो ई सीरीज के स्मार्टफोन की जबरदस्त बिक्री ने भारतीय बाजार में मोटोरोला (मोटो बाय लेनोवो) की पकड़ खासी मजबूत की है। मोटो ब्रांड के सभी स्मार्टफोन में मोटो जी सीरीज सबसे ज्यादा लोकप्रिय हुई है। हमारी नजर में, मोटो जी स्मार्टफोन फीचर और प्राइस के मामले में हमेशा अच्छे संतुलन वाले फोन रहे हैं।  

लेनोवो द्वारा मोटोरोला के अधिग्रहण के बाद मोटो जी के चौथी जेनरेशन के स्मार्टफोन में लेनोवो की ब्रांडिंग की गई है। हैंडसेट में क्लासिक मोटोरोला लोगो अभी भी देखा जा सकता है लेकिन यह साफ है कि लेनोवो मोटो को अपने सब-ब्रांड के तौर पर पेश करना चाहती है। खासतौर पर कंपनी की योजना अपनी वाइब सीरीज को मोटो स्मार्टफोन के साथ रीप्लेस करने की है।

मोटो जी (जेन 3) (रिव्यू) और मोटो जी (टर्बो एडिशन) (रिव्यू) स्मार्टफोन बेह कामयाब रहे लेकिन हमें इन फोन में कैमरा परफॉर्मेंस को लेकर शिकायत रही। पर मोटोरोला को अपने सभी स्मार्टफोन में इस दिक्कत का सामना करना पड़ा है। मोटो जी4 प्लस स्मार्टफोन, मोटो जी4 से थोड़ा बेहतर स्पेसिफेशन वाला फोन है जिसमें कैमरा व सॉफ्टवेयर के तौर पर ज्यादा  बेहतर फीचर दिए गए हैं। आज हम मोटो के इस नए स्मार्टफोन जी4 प्लस का रिव्यू करेंगे और देखेंगे कि मोटो का यह स्मार्टफोन कैसा है।

लुक व डिजाइन
मोटोरोला का जाना-पहचाना डिजाइन जी4 प्लस में भी देखा जा सकता है। हालांकि, यह पूरी तरह से पहले जैसा नहीं है लेकिन इसे निश्चित तौर पर एक मोटो प्रोडक्ट के तौर पर पहचाना जा सकता है। गोलाकार मेटल फ्रेम के साथ रबर के रियर कवर से फोन को अच्छी ग्रिप मिलती है। यह फोन पिछले मोटो जी स्मार्टफोन की तुलना में थोड़ा बड़ा है जिसकी वजह है इसमें दिया गया 5.5 इंच का फुल-एचडी टीएफटी स्क्रीन। सूरज की रोशनी में भी स्मार्टफोन को बहुत आसानी से चलाया जा सकता है और डिस्प्ले में शानदार रंग देखे जा सकते हैं। प्रोटेक्शन के लिए कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास दिया गया है। जी4 प्लस काफी पतला है और इसकी मोटाई 7.9 एमएम है। लेकिन फोन हाथ में लेने पर भारी महसूस नहीं होता है।
 

मोटो जी4 प्लस में मोटो जी स्मार्टफोन में दिए जाने वाली ट्रेडमार्क ग्रिल नहीं दी गई है। लेकिन मोटो के इस नए स्मार्टफोन में फिंगरप्रिेंट सेंसर को जगह दी गई है। यह एक फिजिकल बटन के तौरपर नहीं बल्कि सिर्फ टच करने पर ही काम करता है। फिंगरप्रिंट सेंसर किसी भी एंगल से फिंगरप्रिंट की पहचान कर सकता है और इसके अलावा कभी-कभी गलत पहचान को छोड़ दें तो यह बहुत अच्छे से काम करता है।
 

फोन में सभी बटन को अच्छी तरह से उचित जगह लगाया गया है जिससे ये आसानी से यूजर की पहुंच में आते हैं। हेडफोन शॉकेट ऊपर की तरफ जबकि माइक्रो-यूएसबी पोर्ट नीचे की तरफ दिया गया है।

मोटो जी मॉडल के पिछले स्मार्टफोन में दिए रियर के कर्व्ड डिजाइन की जगह इस फोन में फ्लैट रियर है। फोन में 16 मेगापिक्सल का कैमरा डुअल-टोन एलईडी फ्लैश और लेजर ऑटोफोकस सिस्टम के साथ दिया गया है जिसे एक अच्छा अपग्रेड कहा जा सकता है।
 

रियर पैनल को हटाने पर फोन में एक नॉन रिमूवेबल 3000 एमएएच की बैटरी देखी जा सकती है। वहीं किनारे पर माइक्रोएसडी कार्ड (132 जीबी सपोर्ट) और दो माइक्रो-सिम स्लॉट दिए गए हैं। मोटो जी4 प्लस नैनो-टू-माइक्रो सिम कार्ड अडेप्टर के साथ आता है। लेकिन इस फोन में पिछले वेरिएंट की तरह आईपी67 सर्टिफिकेशन (वाटर रेजिस्टेंट) नहीं है।
 

फोन के रिटेल बॉक्स में एक टर्बोपॉवर चार्जर (25 वाट) औरएक हेडसेट मिलता है। लेकिन वॉल चार्जर एक मॉड्यूलर नहीं है इसलिए डाटा ट्रांसफर करने के लिए आपको एक अलग यूएसबी केबल की जरूरत होगी। हेडसेट की क्वालिटी थोड़ी खराब है और हमारे कानों में यह ठीक से फिट भी नहीं हुआ।

स्पेसिफिकेशन और फीचर
मोटो जी4 प्लस में क्वालकॉम का स्नैपड्रैगन 617 प्रोसेसर दिया गया है जो 1.5 गीगाहर्ट्ज़ ऑक्टा-कोर चिप पर चलता है। इसी प्रोसेसर का इस्तेमाल एचटीसी वन ए9 (रिव्यू) में भी किया गया था। इस फोन में 3 जीबी रैम व 32 जीबी स्टोरेज और 2 जीबी रैम व 16 जीबी स्टोरेज का विकल्प मिलेगा। वहीं कनेक्टिविटी के लिए 4जी एलटीई (कैटेगरी 4), ब्लूटूथ 4.11 लो एनर्जी, डुअल बैंड वाई-फाई बी/जी/एन, जीपीएस, ग्लोनास, यूएसबी-ओटीजी और एफएम रेडियो जैसे विकल्प दिए गए हैं। एनएफसी का फीचर आपको इस फोन में नहीं मिलेगा।
 

मोटो के सभी स्मार्टफोन की तरह ही जी4 प्लस एंड्रॉयड के नियर-स्टॉक वर्जन पर चलता है लेकिन इस बार एंड्रॉयड मार्शमैलो 6.0.1।
 

मोटो जी4 प्लस में फिंगरप्रिंट सेंसर की दायीं ततरफ एक एलईडी है लेकिन हमने देखा कि चार्जिंग के दौरान यह काफी अच्छे से काम करती है। इसके अलावा दूसरे मोशन-बेस्ड जेस्चर आसानी से काम करते हैं। फोन में बहुत सारे प्री-लोडेड ऐप नहीं है लेकिन फाइल मैनेजर और गूगल के स्टैंडर्ड ऐप दिए गए हैं।

परफॉर्मेंस
मोटो जी 4 प्लस एक अच्छा परफॉर्मर है जिसमें शायद ही कोई चीज इसे खराब बनाती है। फोन में यूजर को 1.2 जीबी रैम इस्तेमाल के लिए मिलती है। एनिमेशन और ऐप स्विचिंग के दौरान हमें कोई समस्या इस फोन में देखने को नहीं मिली। फोन गेम खेलते समया या डेटा-जीपीएस ऑन के समय गर्म होता है लेकिन इतना नहीं कि यह इस्तेमाल ना किया जा सके। फोन के गर्म होने के दौरान आपको कैमरा ऐप में थोड़ी दिक्कत हो सकती है, जो शायद फोन को ओवरहीटिंग से बचाने के लिए सिस्टम के सीपीयू स्पीड को कंट्रोल करने की वजह से भी हो सकती है। हमें फोन के बेंचमार्क आंकड़े अच्छे मिले।
 

गैलरी ऐप की जगह गूगल के फोटो ऐप ने ले ली है, जो हमें तो अच्छा नहीं लगा लेकिन यह काम करता है। फोन में फुल-एचडी वीडियो आसानी से प्ले हो जाती हैं। फोटो ऐप में तस्वीरों को एडिट और वीडियो को ट्रिम किया जा सकता है। म्यूजिक के लिए प्ले म्यूजिक ऐप दिया गया है लेकिन एफएलएसी फाइल सपोर्ट नहीं करता। वायर्ड हेडफोन व स्पीकर के लिए इक्वेलाइजर भी दिए गए हैं। जनरल मीडिया प्लेबैक और ईयरपीस में अलर्ट के लिए सिंगल स्पीकर से अच्छा साउंड मिलता है।
 

जी4 प्लस की सबसे बड़ी खासियत में से एक है जी4 प्लस का कैमरा। 16 मेगापिक्सल का रियर कैमरा अपर्चर एफ/2.0, फेज डिटेक्शन ऑटोफोकस (पीडीएएफ) के साथ आता है। फोन में ऑब्जेक्ट को फटाफट कैद करने के लिए लेजर ऑटोफोकस सिस्टम दिया गया है। सब्जेक्ट को फोकस करने के लिए टैप-टू-फोकस और एक्सपोजर को एडजस्ट करने के लिए स्लाइडर का इस्तेमाल किया जा सकता है। सब्जेक्ट पर लंबे समय तक टैप करने से फोकस लॉक हो जाता है जो काफी मदद करता है। इसके अलावा कैमरा ऐप में स्लो-मोशन वीडियो, पैनोरमा और एक प्रोफेशनल मोड मिलता है। कैमरा ऐप उस समय काफी हैंडी लगता है जबकम रोशनी में आप फोकस, व्हाइट बैलेंस, शटर स्पीड, आईएसओ और एक्सपोजर एजस्ट कर सकते हैं।

दिन की रोशनी में लैंडस्केप और मैक्रो तस्वीरों में पहले की अपेक्षा अच्छी क्वालिटी की तस्वीरें मिलती हैं। डिटेलिंग काफी अच्छी है और कैमरे अच्छे कलर वाली तस्वीरें ली जा सकती हैं। हम सलाह देंगे कि एचडीआर को ऑटो सेट रखें क्योंकि यह तस्वीरों को बेहद अच्छा बनाने में मदद करता है। वहीं इंडोर में ली गई तस्वीरें देखने में तो ठीक लगती हैं लेकिन ज़ूम करने पर डिटेलिंग और कलर बिखरे हुए लगते हैं। अधिकतम 1080 पिक्सल की वीडियो रिकॉर्डिंग की जा सकती है और दिन की रोशनी व कम रोशनी में तस्वीरें अच्छी आती हैं। अच्छी रोशनी में फ्रंट कैमरे से अच्छी डिटेल वाली सेल्फी ली जा सकती हैं। इसके अलावा बारकोड और क्यूआरकोड को कैमरा ऐप से ही सीधे रीड किया जा सकता है।

बैटरी लाइफ
मोटो जी 4 प्लस की बैटरी के वीडियो लूप टेस्ट में बैटरू ने 12 घंटे 4 मिनट तक हमारा साथ दिया जो काफी अच्छा है। वहीं सामान्य इस्तेमाल में दोनों सिम कार्ड के साथ हम फुल चार्ज के साथ मोटो के इस स्मार्टफोन को करीब डेढ दिन तक चला पाए। फोन टर्बोपॉवर या फास्ट चार्जिंग सपोर्ट करता है जिससे बैटरी फटाफट चार्ज हो जाती है।
 

हमारा फैसला
मोटो जी सीरीज के नए स्मार्टफोन मोटो जी 4 प्लस एक स्वागत योग्य विकल्प कहा जा सकता है जो परफ़र्मेंस और फीचर अपग्रेड के साथ आता है। फोन में जरूरत के हिसाब से प्रोसेसर दिया गया है जिससे एंड्रॉयड आसानी से काम करता है। एक अच्छा फिगंरप्रिंट सेंसक, अच्छा कैमरा और बेहतरीन बैटरी लाइफ फोन को शानदार बनाते हैं। इस प्राइस रेंज में मोटो जी 4 प्लस एक बेहद अच्छा विकल्प है।

टक्कर काफी कड़ी हो गई है लेकिन हमारी नजर में मोटो जी 4 प्लस में वो सब कुछ है जिससे यह अपनी जगह खुद बनाता है। इसका सबसे खास फीचर समय पर एंड्रॉयड अपडेट का जारी होना है। जी4 प्लस और बेहतर हो सकता था अगर पिछले स्मार्टफोन की तरह इसमें वाटर और डस्ट प्रोटेक्शन फीचर दिया गया होता। वहीं कम रोशनी में कैमरे की खराब परफॉर्मेंस को भी बेहतर किया जा सकता था।

अगर आप एक ऐसे फोन की तलाश में हैं जो कम कीमत में शानदार फीचर के साथ आए तो निश्चित तौर पर मोटो जी4 प्लस एक अच्छा विकल्प है।


Source link

Total Page Visits: 18 - Today Page Visits: 1