LeEco Le 2 Review in Hindi, लेईको ले 2 का रिव्यू

चीनी स्मार्टफोन निर्माता लेईको ने ले 1एस और ले 1एस ईको के बाद अपना नया स्मार्टफोन ले 2 लॉन्च कर दिया है। ले 2 स्मार्टफोन अपने पिछले स्मार्टफोन से बहुत ज्यादा अलग नहीं है। लेकिन इसे कुछ बदलाव और अपग्रेड फीचर के साथ लॉन्च किया गया है। ले 1एस से अलग इस स्मार्टफोन में मेटल बॉडी और फिंगरप्रिंट सेंसर दिया गया है।

ले 1एस ईको को पहचान दिलाने वाले ईकोसिस्टम कंटेट और मेंबरशिप भी ले 2 स्मार्टफोन के साथ ऑफर किया जा रहा है। हालांकि, यह फोन थोड़ा सा ज्यादा महंगा है और इसमें एक फीचर ऐसा है जो संभावित ग्राहकों को आकर्षित करेगा। आज हम करेंगे लेईको के इस नए स्मार्टफोन का रिव्यू और जानेंगे इसकी कमियां व खूबियां।
 

लुक एंड डिजाइन
हमें मिली ले 2 स्मार्टफोन की रिव्यू यूनिट रोज़ गोल्ड कलर वेरिएंट में थी और यह निश्चित तौर पर यूज़र को आकर्षित करता है। लेईको की वेबसाइट पर इस स्मार्टफोन के गोल्ड, सिल्व और ग्रे कलर वेरिएंट भी उपलब्ध हैं। आप अपनी पसंद के अनुसार किसी भी रंग को चुन सकते हैं। फोन का अगला हिस्सा ग्लास का बना हुआ है और स्क्रीन के ऊपर व नीचे कलर्ड पैनल है। फोन के किनारे और रियर मेटल फिनिश के हैं सिवाय शाइनी पॉलिश्ड मेटल के। चौंकाने वाली बात है कि, इस फोन में रियर पर पुराने लेटीवी लोगो का इस्तेमाल किया गया है। जबकि इसी फोन के साथ लॉन्च हुए ले मैक्स 2 (रिव्यू) में नया लोगो दिया गया था।

फोन में दायीं तरफ पावर व वॉल्यूम बटन हैं और बायीं तरफ दो नैनो सिम कार्ड के लिए एक ट्रे है। सबसे ऊपर फोन में एक इंफ्रारेड अमीटर है। नीचे की तरफ दो ग्रिल के बीच एक यूएसबी टाइप-सी पोर्ट है, लेकिन इनमें से सिर्फ दायीं ग्रिल ही स्पीकर है। सबसे ज्यादा अहम बात है फोन में 3.5 एमएम ऑडियो शॉकेट का ना होना।
 

ले 1एस जेनरेशन से तुलना करें तो ले 2 के रियर पर सबसे ज्यादा बदलाव देखने को मिलेंगे। फोन में कैमरा मॉड्यूल अब पहले से बड़ा है और बाकी बॉडी की अपेक्षा थोड़ा सा उभरा हुआ है। फिंगरप्रिंट सेंसर चौकौर है लेकिन इसका मिरर फिनिश अभी भी बरकरार है।

ले 2 स्मार्टफोन पकड़ने और इस्तेमाल करने में काफी आसान है। लेकिन आपको फोन के किनारे थोड़े ज्यादा शार्प लग सकते हैं। लेईको एक फ्लेक्सिबल क्लियर केस के साथ आता है जिससे इसकी ग्रिप आसान होती है। ले 1एस के 169 ग्राम की तुलना में ले 2 वज़न में हल्का है और इसका वज़न 153 ग्राम है। पतले किनारों के चलते फोन को एक हाथ से इस्तेमाल करना भी काफी आसान है।
 

स्पेसिफिकेशन और सॉफ्टवेयर
लेईको ने इस स्मार्टफोन के लिए क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 652 प्रोसेसर का चुनाव किया है जो इसकी कीमत को देखते हुए अच्छा है। खासकर अगर इसकी तुलना समान स्पेसिफिकेशन लेकिन करीब दोगुनी कीमत वाले वीवो वी3मैक्स से करें। ले 2 फोन में 3 जीबी रैम है। इनबिल्ट स्टोरेज 32 जीबी है लेकिन स्टोरेज का एक्सपेंडेबल ना होना निराशाजनक है। भारत में इस्तेमाल होने वाले बैंड 3 और 40 समेत यह स्मार्टफोन कई तरह के 4जी बैंड को सपोर्ट करता है। दोनों सिम कार्ड पर 4जी इस्तेमाल किया जा सकता है लेकिन एक समय में सिर्फ एक सिम पर ही।

पिछले स्मार्टफोन की तरह ही ले 2 में 5.5 इंच स्क्रीन है और इसका रिज़ॉल्यूशन 1080×1920 पिक्सल है। स्क्रीन पर कलर काफी अच्छे दिखते हैं लेकिन उतने गहरे नहीं हैं जितनी कि हमें उम्मीद थी। स्क्रीन की ब्राइटनेस को लेकर हमें सूरज की रोशनी में भी कोई शिकायत नहीं मिली। फोन में डुअल-टोन एलईडी फ्लैश के साथ 16 मेगापिक्सल का रियर कैमरा और 8 मेगापिक्सल फ्रंट कैमरा है। फोन के रियर कैमरे से 4के रिज़ॉल्यूशन की वीडियो रिकॉर्ड की जा सकती है।
 

अब बात ले 2 के उस फीचर की जो इसे दूसरे फोन से अलग बनाता है, इस फोन में 3.5 एमएम ऑडियो पोर्ट नहीं है। ऐसा लगता है कि कंपनी ने इस कदम को उन रिपोर्ट के बाद उठाया है जिनमें इस साल आने वाले आईफोन में ऐप्पल द्वारा हेडफोन जैक ना देने की खबरें आईं थीं। शायद ऐसा दुनियाभर में फैले ऐप्पल के वर्चस्व को कम करने के मकसद किया है और लेईको खुद को दुनिया की पहली ऐसी कंपनी के तौर पर पेश कर रही है जिसने अपने स्मार्टफोन में हेडफोन जैक नहीं दिया है। लेकिन असल बात है कि इसका यूज़र के लिए क्या मायने हैं?

लेईको ने ऑडियो पोर्ट को खत्म कर दावा किया है कि कंपनी ने यूएसबी टाइप-सी पोर्ट के जरिए डिजिटल ऑडियो डिलीवरी के लिए अपने स्टैंडर्ड विकसित किए हैं। कंपनी द्वारा बनाए गए स्टैंडर्ड इंडस्ट्री स्टैंडर्ड से अलग हैं और इनके दुनियाभर में सपोर्ट नहीं करेंगे। लेईको ने अपने इन-ईयर हेडफोन भी लॉन्च किए हैं और कंपनी का कहना है कि इन हेडफोन से स्टैंडर्ड एनालोग कनेक्शन की तुलना में कहीं ज्यादा हाई क्वालिटी ऑडियो का मजा लिया जा सकता है। इस हेडफोन की कीमत 1,990 रुपये है।
 

ले2 अपने पिछले स्मार्टफोन की तुलना में बहुत ज्यादा पतला नहीं है और ना ही इसमें कोई बड़ी बैटरी है। एक कनेक्टर को खत्म करने से ना ही स्पेस का बहुत ज्यादा इस्तेमाल हुआ है। खरीदारों को एक अतिरिक्त एडेप्टर साथ रखने में भी असुविधा होगी। इसके साथ ही फोन के चार्ज होते समय हेडफोन का भी इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है।

परफॉर्मेंस
शानदार और दमदार क्षमता वाले हार्डवेयर के चलते ले 2 को इस्तेमाल करते समय हमें कोई परेशानी नहीं हुई। फोन में ऐप फटाफट और आसानी से लोड होते हैं। फोन की परफॉर्मेंस से अधिकतर यूज़र संतुष्ट होंगे और फोन में 3डी गेम जैसे एसफाल्ट 8: एयरबोर्न भी आसानी से चलते हैं। हमें खुशी हुई कि फोन गेम खेलते समय गर्म नहीं होता।
 

फोन के फिंगरप्रिंट रीडर में हमें थोड़ी परेशानी देखने को मिली जो अधिकतर दो बार में ही सटीक उंगली की पहचान करता है। फिंगरप्रिंट सेंसर स्टैंडबाय मोड में भी काम करता है लेकिन स्क्रीन के एक्टिव होने से पहले इसमें एक या दो सेकेंड की देरी होती है, जो परेशानी पैदा करती है। इसके अलावा सेल्फी लेते समय सेंसर का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। हमें फोन के वॉल्यूम बटन इस्तेमाल करने में आसान लगे। इंफ्रारेड अमीटर एलईईको के अपने रिमोट कंट्रोल ऐप के साथ काम करते हैं।
 

बेंचमार्किंग टेस्ट में हमें ले 2 स्मार्टफोन से शानदार आंकड़े मिले। फोन की बैटरी ने वीडियो लूप टेस्ट में 12 घंटे और 8 मिनट तक हमारा साथ दिया जो अच्छा है। एक बार चार्ज करने पर 4जी नेटवर्क पर और थोड़ी बहुत गेमिंग के साथ फोन को हम पूरे दिन चला पाए।
 

लेईको का कैमरा ऐप बेहद अच्छा है और ऐप में सभी जरूरी सेटिंग को आसानी से एक्सेस किया जा सकता है। कैमरा ऐप में कुछ सीन मोड और कंट्रोल जैसे बैलेंस, एक्सपोज़र और आईएसओ मौजूद हैं।
 

फोन में कैमरा परफॉर्मेंस अधिकतर जगह शानदार रहती है। ज़ूम किए बना तस्वीरें शानदार दिखती हैं लेकिन अगर करीब से देखें तो टेक्सचर में डिटेलिंग की कमी दिखती है। कैमरे से फोकस खासा तेज होता है और कुछ अच्छे इफेक्ट मिल सकते हैं। कम रोशनी में अच्छी तस्वीरें लेना थोड़ा कठिन होता है खासकर तब जबकि सब्जेक्ट पूरी तरह स्थिर ना हो। फोन में 4के वीडियो रिकॉर्डिंग अच्छी होती है हालांकि यह बहुत ज्यादा ब्राइट या वाइब्रेंट नहीं है। फ्रंट कैमरे से ली गईं तस्वीरें भी सॉफ्ट आती हैं।
 

हमारा फैसला
12000 रुपये की कीमत में लेईको ने एक दमदार पैकेज पेश किया है। ले 2 में बहुत सारी चीजें हैं जो इसे शानदार बनाती हैं खासकर इसका लुक और डिजाइन जो यूज़र को इससे दोगुनी कीमत वाले फोन का अहसास दिलाता है। फोन में दमदार हार्डवेयर दिया गया है। अगर ऑडियो और वीडियो आपके लिए खासा मायने रखता है तो यह फोन आपके लिए और ज्यादा मायने रखता है। बात करें खामियों की तो एंड्रॉयड और कैमरा परफॉर्मेंस हमें निराश करती है। इसके अलावा फोन सिर्फ ऑनलाइन फ्लैश सेल के जरिए उपलब्ध होगा इसलिए इसे खरीदने थोड़ा मुश्किल भी हो सकता है।

अगर आप शो ऑफ करना चाहते हैं तो आप इस फोन को खरीद सकते हैं। इसके अलावा इस कीमत में शाओमी रेडमी नोट 3 (32 जीबी) (रिव्यू) या मोटो जी4 प्लस (रिव्यू) से ज्यादा क्षमता वाला स्मार्टफोन भी है। लेईको ने इस अपग्रेडेड स्मार्टफोन के साथ अच्छा काम किया है और ले 2 निश्चित तौर पर 15,000 रुपये से कम कीमत वाले फोन में अपने पिछले फोन की जगह आसानी से ले लेगा।


Source link

Total Page Visits: 65 - Today Page Visits: 1