iQoo 3 Review in Hindi, आइकू 3 का रिव्यू

iQoo भारतीय मार्केट में प्रवेश करने वाला सबसे नया स्मार्टफोन ब्रांड है। जहां एक ओर ज्यादातर कंपनियां नई मार्केट में बजट सेगमेंट पर सबसे पहले कब्ज़ा करने के इरादे से उतरती है, वहां iQoo इसके विपरीत एक अलग योजना बना कर भारत में आई है। कंपनी ने भारत में अपनी शुरुआत iQoo 3 के साथ की है, जो प्रीमियम स्मार्टफोन है और कुछ दमदार हार्डवेयर के साथ आता है। उदाहरण के लिए आइकू 3 में क्वालकॉम का सबसे दमदार प्रोसेसर स्नैपड्रैगन 865 शामिल है। इतना ही नहीं, iQoo 3 का टॉप-एंड मॉडल 5G कनेक्टिविटी सपोर्ट के साथ आता है। हालांकि यह फिलहाल केवल दिखावे के लिए अच्छा है, क्योंकि भारत में इस समय 5जी नेटवर्क उपलब्ध नहीं है। स्मार्टफोन की शुरुआती कीमत 36,990 रुपये है और यदि iQoo 3 की कागज़ पर स्पेसिफिकेशन को देखें तो यह कीमत ज्यादा महसूस नहीं होती है। क्या आपको इस नए खिलाड़ी पर अपना पैसा लगाना चाहिए? हम पता लगाने के लिए डिवाइस का रिव्यू कर रहे हैं। 

iQoo 3 Design

जब हमने iQoo 3 को सबसे पहले देखा, तो हमें इसके बिल्ड से काफी खुश हुए। 214.5 ग्राम वज़न के साथ यह निश्चित रूप से काफी भारी लगता है, लेकिन साथ ही प्रीमियम भी लगता है। इसमें 6.44 इंच का एमोलेड डिस्प्ले दिया गया है। सेल्फी कैमरे के लिए इसमें एक छोटा सा होल-पंच कटाउट है। डिस्प्ले के चारों ओर बेहद पतली बेज़ल हैं।

iQoo 3 के फ्रेम पर इयरपीस सेट किया गया है, जिसे एक नज़र में ढूंढ पाना मुश्किल है। फोन में मेटल फ्रेम शामिल है, जो डिवाइस को प्रीमियम लुक देता है। पावर और वॉल्यूम बटन डिवाइस के दायीं ओर हैं और बहुत अच्छी तरह से सेट किए गए हैं। इन तक अंगूठे को पहुंचना मुश्किल नहीं होता है। पावर बटन नारंगी फिनिश में आता है।

iQoo ने फ्रेम के दायीं तरफ ही कैपेसिटिव शोल्डर बटन भी दिए हैं। ये इस तरह से सेट किए गए हैं कि गेमिंग के समय फोन को लैंडस्केप तरीके से रख आप इन्हें इस्तेमाल कर सकते हैं। iQoo 3 के बायीं ओर एक स्मार्ट बटन है जिसका इस्तेमाल गूगल असिस्टेंट को एक्सेस करने के लिए किया जा सकता है। इस फोन में ऊपर की तरफ 3.5 एमएम ऑडियो जैक है, जबकि नीचे की तरफ यूएसबी टाइप-सी पोर्ट और लाउडस्पीकर हैं।
 

iQoo

डिवाइस का रियर पैनल कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास 6 की सुरक्षा के साथ आता है, जो फोन को रोज़मर्रा के उपयोग में छोटे-मोटे स्क्रैच से बचाएगा। iQoo ने इस स्मार्टफोन को तीन रंगों के विकल्प में पेश किया है – टॉर्नेडो ब्लैक, क्वांटम सिल्वर और वोल्केनो ऑरेंज। हमारी रिव्यू यूनिट टॉर्नेडो ब्लैक वेरिएंट रंग की थी, लेकिन हमें वोल्केनो ऑरेंज फिनिश काफी पसंद आई, क्योंकि यह आम रंग से अलग लगता है।

आइकू 3 में पीछे की तरफ क्वाड-कैमरा सेटअप दिया है। कैमरा मॉड्यूल आजकल आने वाले अधिकतर स्मार्टफोन के जैसा ही दिखाई देता है। iQoo 3 में  4,440 एमएएच बैटरी है और अच्छी बात यह है कि फोन के बॉक्स में 55 वाट का “सुपर फ्लैशचार्ज” चार्जर मिलता है, जो डिवाइस को जल्दी चार्ज करने में मदद करता है।
 

iQoo 3 specifications and software

आइकू 3 में क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 865 चिपसेट दिया गया है। यह एंड्रॉयड स्मार्टफोन में आने वाला अब तक का सबसे शक्तिशाली चिपसेट है, जिसमें एक कोर 2.8 गीगाहर्ट्ज़ पर, तीन कोर 2.4 गीगाहर्ट्ज़ पर और अन्य चार कोर 1.8 गीगाहर्ट्ज़ क्लॉक स्पीड पर काम करते हैं।

आइकू ने भारतीय बाजार में iQoo 3 के तीन वेरिएंट लॉन्च किए हैं। बेस वेरिएंट में 8 जीबी रैम रैम और 128 जीबी स्टोरेज दी गई है और इसकी कीमत 36,990 रुपये है। इसके दूसरे वेरिएंट में 8 जीबी रैम के साथ 256 जीबी स्टोरेज है, जिसकी कीमत 39,990 रुपये है। फोन का एक 12 जीबी रैम और 256 जीबी स्टोरेज वेरिएंट भी है, जो 5G सपोर्ट करता है। इसकी कीमत भारत में 44,990 रुपये है। iQoo 3 के सभी वेरिएंट पर UFS 3.1 स्टोरेज और LPDDR5 रैम शामिल है।

स्मार्टफोन में 6.44-इंच फुल-एचडी+ एमोलेड डिस्प्ले है, जो 409ppi पिक्सल डेंसिटी और HDR10+ सपोर्ट के साथ आता है। iQoo के डिस्प्ले में सुरक्षा के लिए Schott Xensation UP ग्लास है और यह 91.4 प्रतिशत स्क्रीन-टू-बॉडी रेशियो के साथ आता है।
 

iQoo

iQoo 3 पर कनेक्टिविटी विकल्पों में 5G (केवल टॉप वेरिएंट), डुअल 4G VoLTE, ब्लूटूथ 5.1, जीपीएस और ग्लोनास शामिल हैं। इसमें 4,440 एमएएच क्षमता की बैटरी है, जो 55 वाट फास्ट चार्जिंग सपोर्ट करती है और फोन के बॉक्स में 55W सुपर फ्लैशचार्ज चार्जर भी मिलता है। इस चार्जर में पिल के आकार का 90-डिग्री मुड़ा हुआ कनेक्टर है और आइकू का दावा है कि यह गेमिंग के समय स्मार्टफोन चार्ज करने में सहुलियत देता है।

सॉफ्टवेयर में आते हैं। iQoo 3 Android 10 पर आधारित iQoo UI 1.0 के साथ आता है। हमें इसका यूज़र इंटरफेस पसंद आया, क्योंकि यह चलाने में काफी आसान है और दिखने में भी सिंपल है।

आइकू के यूआई में ऐप ड्रॉअर नहीं है और सभी आइकन होम स्क्रीन पर आते हैं। इससे एक हाथ से इस्तेमाल करते समय ज्यादा दिक्कत नहीं होती है। iQoo पर कस्टोमाइजेशन के भी बहुत सारे विकल्प उपलब्ध हैं। आप लॉकस्क्रीन, फिंगरप्रिंट और चेहरे की पहचान के लिए अलग-अलग एनिमेशन चुन सकते हैं। इस फोन में ऑलवेज-ऑन डिस्प्ले फीचर भी है।

यूज़र्स के पास तीन-बटन वाले नेविगेशन लेआउट और स्वाइप गेस्चर के बीच चुनने का विकल्प भी मौजूद है। यह फीचर इस्तेमाल करने में सुविधाजनक है और iQoo ने इसमें एक क्विक लॉन्च गेस्चर भी जोड़ा है, जो स्पाइप बैक कर होल्ड करने में आता है। डिवाइस पर वीवो का स्मार्ट असिस्टेंट जोवी भी मौजूद है।
 

iQoo

एंड्रॉयड 10 फीचर्स जैसे डिजिटल वेलबीइंग और पैरेंटल कंट्रोल भी मौजूद हैं। iQoo 3 में एक मॉन्स्टर मोड है, जो सीपीयू परफॉर्मेंस को तुरंत बढ़ाता है और सभी पावर-सेविंग विकल्पों को बंद कर देता है। यह फीचर स्मार्टफोन की थीम को भी बदल देता है। इसमें अल्ट्रा गेम मोड भी है, जिसे ऑन करते ही स्मार्टफोन के सभी गेमिंग फीचर शुरू हो जाते हैं।

आइकू 3 में हेलो, डेलीहंट, फ्लिपकार्ट, फेसबुक, डब्ल्यूपीएस ऑफिस, अमेज़न शॉपिंग और ओपेरा जैसे ब्लोटवेयर भर कर आते हैं। डिवाइस का अपना ऐप स्टोर भी है, जिसे वी-ऐपस्टोर कहा जाता है। बता दें कि यदि आप डेलीहंट और हेलो जैसे ऐप लॉन्च करते हैं, तो स्पैम नोटिफिकेशन आने शुरू हो जाते हैं। यदि आप इन ऐप्स का इस्तेमाल नहीं करना चाहते तो हम आपको इन्हें हटाने की सलाह देंगे।
 

iQoo 3 performance, battery life

आइकू 3 के डिस्प्ले में 60Hz रिफ्रेश रेट पैनल दिया गया है। फिर भी इसका कलर प्रोडक्शन बहुत अच्छा है। पैनल के व्यूइंग एंगल अच्छे हैं और यह धूप में भी काफी अच्छा परफॉर्म करता है। इसमें चुनने के लिए तीन कलर मोड हैं और आप कलर के तापमान को ट्विक भी कर सकते हैं। iQoo 3 के डिस्प्ले में एक छोटा होल-पंच है, लेकिन यह कंटेंट देखने के दौरान आपको मनोरंजन में भंग नहीं डालेगा। हालांकि हम iQoo 3 के लाउडस्पीकर से खुश नहीं थे। इसमें स्टीरियो आउटपुट की कमी है और स्पीकर को हमारी पसंद के हिसाब इसमें बहुत कम आवाज़ आती है।

इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट स्कैनर के साथ ही इसमें फेस अनलॉक फीचर भी है, जो फास्ट है और सटीक भी। ऐप्स या गेम खेलते समय हमें इसमें किसी प्रकार की समस्या देखने को नहीं मिली। क्योंकि हमारे पास 12 जीबी रैम वेरिएंट था, इसलिए मल्टीटास्किंग भी मक्खन की तरह महसूस हो रही थी।
 

iQoo

हमने इसमें PUBG Mobile और Asphalt 9: Legends खेल कर देखा। दोनों गेम हाई सेटिंग्स पर चले और हमने पूरी गेमिंग के दौरान इसमें किसी प्रकार का लैग या फ्रेम स्किपिंग महसूस नहीं की। हमने पबजी मोबाइल खेलते समय गेमिंग ट्रिगर को भी टेस्ट किया। हमने पाया कि यह पबजी के शौकीन प्लेयर्स के लिए काफी उपयोगी है।

आपको यह जानकर खुशी होगी कि iQoo 3 अच्छी बैटरी लाइफ देता है। हमारे एचडी वीडियो लूप टेस्ट में, यह फोन 19 घंटे और 13 मिनट तक चलने में कामयाब रहा। नियमित उपयोग के साथ यह फोन बिना किसी समस्या के लगभग डेढ़ दिन तक चले सकता है। हमारे चार्जिंग टेस्ट में, iQoo 3 ने 78 प्रतिशत चार्ज होने में 30 मिनट का समय लिया और पूरी तरह से चार्ज होने में लगभग 50 मिनट लगे। पांच मिनट का छोटा चार्ज स्मार्टफोन को 16 प्रतिशत तक पहुंचाने में सक्षम था जो प्रभावशाली है। यदि कुछ लोग इसकी तुलना Realme X50 Pro 5G से करते हैं तो बता दें कि फोन 100 प्रतिशत चार्ज होने में iQoo 3 से कम समय लेता है, लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि रियलमी फोन के साथ 65W चार्जर आता है और इसमें 4,200 एमएएच की छोटी बैटरी है।
 

iQoo 3 cameras

आइकू 3 के बैक में एक क्वाड-कैमरा मॉड्यूल आता है, जो हमें Vivo V17 की याद दिलाता है। प्राइमरी कैमरे में एफ/1.79 अपर्चर के साथ 48-मेगापिक्सल का सोनी IMX582 सेंसर है और सेकेंडरी कैमरा में एफ/2.46 अपर्चर वाला 13-मेगापिक्सल का टेलीफोटो सेंसर है, जो 2x ऑप्टिकल ज़ूम और 20X डिजिटल ज़ूम सपोर्ट करता है। अन्य दो कैमरों में एक एफ/2.2 अपर्चर वाला 13-मेगापिक्सल का वाइड-एंगल लेंस और एक एफ/2.4 अपर्चर वाला 2-मेगापिक्सल का डेप्थ सेंसर है। कैमरा ऐप Vivo के स्मार्टफोन में मिलने वाले ऐप के समान है।
 

iQoo

iQoo 3 का कैमरा सेटअप तेज़ी से फोकस को लॉक करता है और इसका AI यह आसानी से पता लगा लेता लेता है कि फोन का कैमरा किस सब्जेक्ट की ओर फोकस करना चाह रहा है । इसके अलावा कैमरा यह भी सुझाव देता है कि किसी विशेष शॉट को लेने के लिए किस कैमरे का इस्तेमाल करना सही होगा। दिन के उजाले में स्मार्टफोन लाइट को सही ढंग से पकड़ता है। दिन के उजाले में ली गई तस्वीरें अच्छी आती है, लेकिन कुछ तस्वीरों में कलर टोन थोड़ी फीकी आई।
 

iqoo

 

iqoo

 

iqoo

अधिकतर तस्वीरों में डिटेल की कमी नहीं दिखाई दी, ज़ूम-इन कर फोटे लेने पर तस्वीरों में ग्रेन (बारीक दानें) देखने को मिलते हैं। वाइड-एंगल कैमरा पर स्विच करने से तस्वीरों की क्वालिटी कम हो जाती है और किनारों पर डिस्टॉर्शन दिखाई देता है। हमने यह भी देखा कि तस्वीरों में कलर टोन भी असल से थोड़ी हट कर आती है। टेलीफोटो कैमरा 2x ऑप्टिकल ज़ूम सपोर्ट करता है और प्राइमरी कैमरा की तरह ही यह भी कुछ अच्छी तस्वीरें ले सकता है।
 

iqoo

 

iqoo

प्राइमरी कैमरे के साथ क्लोज़-अप शॉट अच्छे आते थे। स्मार्टफोन सब्जेक्ट और बैकग्राउंड के बीच एक नेचुरल डेप्थ इफेक्ट बनाता है। आप वाइड-एंगल कैमरा पर स्विच करके iQoo 3 के साथ मैक्रो शॉट्स भी ले सकते हैं। मैक्रो शॉट्स में अच्छी डिटेल आती है और iQoo 3 आपको सब्जेक्ट के काफी करीब से भी तस्वीर लेने देता है।
 

iqoo

फोन में पोर्ट्रेट शॉट्स भी अच्छे आते हैं। फोन आपको शॉट लेने से पहले ब्लर के लेवल को सेट करने का विकल्प देता है, लेकिन इस प्राइस रेंज के अन्य स्मार्टफोन्स की तुलना में इसमें डिटेल की थोड़ी कमी दिखाई देती है।
 

iqoo

 

iqoo

कम रोशनी में कैमरे की परफॉर्मेंस गिर के औसत हो जाती है और हमने तस्वीरों में डिटेल की कमी भी देखी। नाइट मोड पर स्विच करने से तस्वीरों में थोड़ा ही अंतर आता है। हालांकि पूरे अंधेरे से विपरीत हल्की छाया वाले क्षेत्रों में फोन का कैमरा थोड़ा बेहतर परफॉर्म करता है। तस्वीरों में डिटेल के साथ एक्पोज़र भी अच्छा दिखाई देता है।
 

iqoo

आईक्यू 3 के साथ ली गई सेल्फी भी बेहतर लगी। फोकस तेज़ होता है और स्मार्टफोन डिफॉल्ट रूप से ब्यूटिफिकेशन लागू करता है। जब उजाले में शूटिंग करते हैं तो स्मार्टफोन एचडीआर को अपने आप सक्षम कर देता है, जो बेहतर आउटपुट देने में मदद करता है।

वीडियो रिकॉर्डिंग की बात करें तो प्राइमरी बैक कैमरा से इसमें अधिकतम 60fps के साथ 4K और सेल्फी कैमरा से 60fps पर 1080p रिजॉल्यूशन पर वीडियो रिकॉर्डिंग कर सकते हैं। दिन के उजाले में हमने देखा कि वीडियो में थोड़ा सा टिमटिमाहट दिखाई देती है। इसमें एक सुपर स्टेडी मोड भी है। हालांकि इसे इस्तेमाल करने के बाद भी वीडियो में थोड़ा कंपन नज़र आता है। कम रोशनी में वीडियो फुटेज खराब आती है, लेकिन सुपर स्टेडी मोड वीडियो में कुछ हद तक सुधार करता है।
 

Verdict

IQoo 3 भारत में इस नए ब्रांड का पहला स्मार्टफोन है और यह कुछ दमदार हार्डवेयर के साथ आता है। फोन में Snapdragon 865 चिपसेट दिया गया है और UFS 3.1 स्टोरेज का सपोर्ट भी शामिल है। ये दोनों कॉम्बिनेशन बहुत कम स्मार्टफोन में दिखाई देते हैं। फोन में 5G कनेक्टिविटी वेरिएंट भी है, यदि आप टॉप वेरिएंट लेते हैं और 44,990 रुपये खर्च करते हैं। हालांकि भारत में फिलहाल 5G नेटवर्क उपलब्ध नहीं हैं, इसलिए आप बिना किसी चिंता के नीचे के वेरिएंट भी चुन सकते हैं। हालांकि, हमारे रिव्यू में हमने 12 जीबी रैम वाले 5G वेरिएंट को ही टेस्ट किया है।

आइकू 3 का सॉफ्टवेयर अच्छा है। हालांकि यह और अच्छा हो जाता है, जब इसमें शामिल ब्लोटवेयर को हटा दिया जाता है। हालांकि कैमरे कई मौकों पर हल्का महसूस हुआ। इसके कैमरा परफॉर्मेंस के अलावा, iQoo 3 ने हमें शिकायत का मौका नहीं दिया।


Source link

Total Page Visits: 74 - Today Page Visits: 1