सोनी एक्सपीरिया एक्स डुअल का रिव्यू

सोनी ब्रांड के मोबाइल फोन की मांग लगातार कम होती जा रही है, हालांकि यह जापानी इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी गेमिंग और कैमरा सेंसर डिपार्टमेंट में अच्छा काम कर रही है। सोनी एक्सपीरिया ज़ेड5 रेंज के बाद कंपनी ने अपने नए फ्लैगशिप फोन को एक्स रेंज के तहत पेश किया है। इस रेंज के स्मार्टफोन मोबाइल वर्ल्ड कॉन्ग्रेस 2016 में लॉन्च किए गए थे।

अब बात कंपनी के लेटेस्ट फ्लैगशिप हैंडसेट सोनी एक्सपीरिया एक्स डुअल की। 48,990 रुपये वाले एक्सपीरिया एक्स डुअल की भिड़ंत मार्केट के बड़े प्लेयर से है। भले ही इस फोन के स्पेसिफेकशन इससे कई किफायती हैंडसेट की तुलना में भी कमज़ोर हैं, लेकिन सोनी ने कैमरा तकनीक में बहुत कुछ नया देकर इस कमी को दूर करने की कोशिश की है। क्या एक्सपीरिया एक्स डुअल अपनी कीमत को सही साबित करता है? आइए इसके रिव्यू के जरिए जानते हैं।
 

sony_xperia_x_dual_main2_ndtv

लुक और डिजाइन
हम नाम बदलने जाने के बाद से डिजाइन में भी बड़े बदलाव की उम्मीद कर रहे थे, लेकिन ऐसा नहीं देखने को मिला। नया फोन बहुत हद तक सोनी एक्सपीरिया ज़ेड5 जैसा नज़र आता है। एक्सपीरिया एक्स डुअल के साथ कंपनी ने पुराने फॉर्मूले को ही दोहराया है। नतीजतन यह दिखने में शानदार है।

पूरी मेटल बॉडी इसके पक्ष में जाती है। यह फोन को प्रीमियम लुक देता है और यह मजबूत भी नज़र आता है। एक्सपीरिया एक्स डुअल स्मार्टफोन में 5 इंच का स्क्रीन है। बनावट ऐसी है कि एक्सपीरिया एक्स डुअल को हाथों में पकड़ने और ग्रिप करने में दिक्कत नहीं होती।

फोन के स्क्रीन पर स्क्रैच प्रोटेक्शन मौजूद है। स्टीरियो साउंड के लिए दो स्पीकर दिए गए हैं। फ्रंट कैमरा, सोनी का लोगो और प्रॉक्सिमिटी सेंसर टॉप पर है।
 

sony_xperia_x_dual_back_ndtv

फोन को मेटालिक फिनिश दी गई है। रियर पैनल पर एक्सपीरिया का लोगो, कैमरा और फ्लैश मौजूद हैं। टॉप पर 3.5 एमएम का सॉकेट है। दायीं तरफ पावर बटन है। इस तरफ कैमरा बटन भी दिए गए हैं। माइक्रो-यूएसबी पोर्ट निचले हिस्से में हैं। हाइब्रिड डुअल-सिम ट्रे बायीं तरफ मौजूद हैं। आपको सिम ट्रे को खोलने के लिए इजेक्टर पिन की ज़रूरत नहीं पड़ेगी। इसके लिए आपके नाखून की काफी होंगे। गौर करने वाली बात है कि एक्सपीरिया एक्स डुअल वाटर रेसिस्टेंट नहीं है जिसे कंपनी अब प्रीमियम फ़ीचर बता कर पेश करती रही है।

सोनी एक्सपीरिया एक्स डुअल में फिंगरप्रिंट सेंसर पावर बटन में इंटिग्रेटेड है, बिल्कुल सोनी एक्सपीरिया ज़ेड5 की तरह। सेंसर स्टैंडबाय मोड में काम नहीं करता। इसके लिए आपको पहले फोन को एक्टिव मोड में लाना होगा। ऐसा करने के लिए आपको पावर बटन को दबाना होगा और उसके बाद फिंगर को बटन के ऊपर चंद सेकेंड के लिए रखना है। यह कई बार अच्छा काम करता है और तेजी से फोन को अनलॉक कर देता है, लेकिन हमेशा नहीं।

sony_xperia_x_dual_buttons_ndtv

हम अपने अनुभव के आधार पर कह सकते हैं कि यह फिंगरप्रिंट सेंसर के लिए सबसे बेहतरीन जगह नहीं है। हमें इसे इस्तेमाल करने में कई बार दिक्कत नहीं हुई।

डिवाइस में 5 इंच का फुल-एचडी आईपीएस एलसीडी स्कीन है जिसकी पिक्सल डेनसिटी 441 पीपीआई है। इसका स्क्रीन एक्सपीरिया ज़ेड5 के 5.2 इंच के डिस्प्ले की तुलना में थोड़ा छोटा है, लेकिन आप खुली आंखों से अंतर नहीं बता पाएंगे। यह एमोलेड स्क्रीन वाले हैंडसेट की तुलना में ब्राइट है लेकिन कॉन्ट्रास्ट, ब्लैक लेवल और कलर रेंज में थोड़ा कमज़ोर है।

कुल मिलाकर एक्सपीरिया एक्स डुअल का स्क्रीन अच्छा है। सोनी ने पिक्चर क्वालिटी बढ़ाने के लिए कुछ उपयोगी बदलाव भी किए हैं।
 

sony_xperia_x_dual_top_ndtv

स्पेसिफिकेशन और सॉफ्टवेयर
इस प्राइस सेगमेंट के ज्यादातर फोन क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 820 चिपसेट से लैस हैं, लेकिन सोनी एक्सपीरिया एक्स डुअल में क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 650 चिपसेट का इस्तेमाल किया गया है। इसके साथ 3 जीबी रैम और 64 जीबी इनबिल्ट स्टोरेज मौजूद है। मज़ेदार बात यह है कि शाओमी रेडमी नोट 3 में भी स्नैपड्रैगन 650 प्रोसेसर का इस्तेमाल किया गया है जिसकी कीमत सोनी के इस फोन की एक चौथाई है।

डुअल सिम 4जी कनेक्टिविटी के साथ आने वाले इस फोन में हाइब्रिड सिम स्लॉट, 256 जीबी तक के माइक्रोएसडी कार्ड के लिए सपोर्ट, वाई-फाई ए/बी/जी/एन/एसी, ब्लूटूथ 4.2 और एनएफसी फ़ीचर मौजूद हैं। फोन में 2620 एमएएच की बैटरी है और यह क्वालकॉम के क्विक चार्ज 2.0 टेक्नोलॉजी को सपोर्ट करती है। वैसे हम रिव्यू के लिए आम 7.5 वाट वाला चार्ज़र दिया गया था। सोनी के लोकप्रिय स्टेमिना और अल्ट्रा स्टेमिना मोड भी इस फोन में दिए गए हैं जो आपके फोन की बैटरी लाइफ को बढ़ाने का काम करेंगे।
 

sony_xperia_x_dual_logo2_ndtv

एक्सपीरिया एक्स डुअल स्मार्टफोन एंड्रॉयड 6.0.1 से लैस है जिसके ऊपर सोनी के एक्सपीरिया यूआई का इस्तेमाल किया गया है। इंटरफेस के लुक में कोई बदलाव नहीं किया गया है। नोटिफिकेशन शेड और क्विक टॉगल मेन्यू स्टॉक एंड्रॉयड लॉन्चर की तरह हैं। हालांकि, फोन पर ज़रूरत से ज्यादा ऐप्स पहले से इंस्टॉल हैं और इनमें से कुछ को हटाया भी नहीं जा सकता।

इसमें अमेज़न किंडल, एवीजी प्रोटेक्शन, क्लीन मास्टर, हंगामा प्ले, सोनी लिव और कुछ चुनिंदा गेम शामिल हैं। इन्हें डिसेबल करना तो संभव है लेकिन स्थाई तौर पर हटाना नहीं। सोनी लिव बार-बार नोटिफिकेशन भेजकर परेशान करने का काम करता है। इसे सिस्टम सेटिंग्स के जरिए ही ब्लॉक किया जा सकता है। हमें लगता है कि सोनी की कोशिश अपने पार्टनर ऐप्स को लोकप्रिय बनाने की है। ऐप ड्रॉअर थोड़ा अलग है। इसमें कुछ अतिरिक्त फ़ीचर इंटिग्रेट किए गए हैं।
 

sony_xperia_x_dual_camera_ndtv

कैमरा
सोनी एक्सपीरिया एक्स डुअल में 23 मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा और 13 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा है। दोनों में सोनी के अपने एक्समोर आरएस सेंसर का इस्तेमाल किया गया है। रियर कैमरे में एलईडी फ्लैश है। दोनों ही कैमरे से आप फुल-एचडी रिज़ॉल्यूशन के वीडियो रिकॉर्ड कर पाएंगे। रियर कैमरा 60 फ्रेम प्रति सेकेंड से आम वीडियो रिकॉर्ड कर सकता है और 120 फ्रेम प्रति सेकेंड से स्लो मोशन वीडियो। 4के वीडियो रिकॉर्डिंग इस हैंडसेट का हिस्सा नहीं है जो चौंकाने वाला फैसला लगता है।

कैमरा ऐप अच्छे से बनाया गया है। फ्लैश, कैमरा स्विचर, सेटिंग्स और गैलेरी क्विक एक्सेस के साथ आता है। स्टेंडर्ड शूटिंग मोड सुपीरियर ऑटो है, लेकिन आप आसानी से मैनुअल या वीडियो मोड चुन पाएंगे। मेन्यू में चौथा विकल्प आपको एआर इफेक्ट, स्वीप पनोरमा, टाइमशिफ्ट और अन्य फ़ीचर का एक्सेस देता है। आप सोनी के व्हाट्स न्यू ऐप और गूगल प्ले के जरिए अतिरिक्त कैमरा ऐप्स को भी डाउनलोड कर सकते हैं। सेटिंग्स मेन्यू से आप बहुत कुछ नियंत्रित कर पाते हैं।
 

इसमें डिजिटल इमेज स्टेबलाइजेशन टूल भी है जिसे स्टेडी शॉट का नाम दिया गया है। यह वीडियो रिकॉर्डिंग के दौरान हिलने के कारण होने वाली दिक्कतों को दूर करने की कोशिश करता है। लेकिन यह कहीं से भी ऑप्टिकल इमेज स्टेबलाइजेशन के विकल्प के तौर पर उभर कर नहीं आता।

सोनी एक्सपीरिया एक्स डुअल ख़ासकर अच्छी रोशनी में बेहतरीन कलर रिप्रोडक्शन और डिटेल के साथ तस्वीरें लेता है। तस्वीर के रिज़ॉल्यूशन के कारण ज्यादा से ज्यादा डिटेल कैप्चर कर पाना संभव होता है। आपको आम तौर पर ली गई तस्वीरों से ज्यादा दिक्कत नहीं होगी।

फोन कमाल तो कम रोशनी की तस्वीरें लेने में करता है। ग्रेन की समस्या रहेगी, लेकिन फोन कम रोशनी में भी सराहनीय स्तर के डिटेल और कलर के साथ तस्वीरें लेने में कामयाब होता है। ऑटोफोकस तेजी से काम करता है और आमतौर पर शॉट के सही हिस्से पर फोकस करने में सफल रहता है। फोन का कैमरा सिर्फ मैक्रो फोटोग्राफी और क्लोज़अप शॉट में चूक जाता है।

वीडियो क्वालिटी बेहतरीन है। फोन अपने डिजिटल इमेज स्टेबलाइजेशन फ़ीचर के जरिए यह सुनिश्चित करता है कि ज्यादा हिलती हुई तस्वीरें ना आएं। फ्रंट कैमरा काफी अच्छा है। सेल्फी के दीवानों को यह खासा पसंद आएगा।
 

sony_xperia_x_closeupsample_ndtv-thumb

परफॉर्मेंस
सोनी ने एक्पीसिया एक्स डुअल में मिड रेंज प्रोसेसर क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 650 चिपसेट का इस्तेमाल करके एक तरह से जुआ खेला है। भले ही यह अपने हिसाब से एक सक्षम फोन है, लेकिन यह कहीं से भी 50,000 रुपये के रेंज वाले फोन के बराबर की परफॉर्मेंस नहीं देता है। अगर हम इसकी कीमत को एक पल के लिए नज़रअंदाज कर दें तो यह फोन पिछले साल लॉन्च किए गए फ्लैगशिप फोन के बराबर की परफॉर्मेंस देता है। इससे पता चलता है कि इस साल मिड-रेंज में कितने शानदार चिपसेट आए हैं। परफॉर्मेंस आमतौर पर संतोषजनक थी, लेकिन सोनी एक्सपीरिया एक्स डुअल ने हमें कई बार निराश किया।

चार्ज़िंग, गेमिंग और वीडियो शूट करने के दौरान फोन ज्यादा गर्म हुआ। यह चिंता का विषय है, ख़ासकर तब जब फोन गर्म होने के कारण वीडियो रिकॉर्डिंग को रोक देता है। ऐसा हमारे साथ कई बार हुआ।

बेंचमार्क टेस्ट में फोन को सम्मानजनक स्कोर मिले। फोन परफॉर्मेंस के मामले में अच्छा है, लेकिन कई बेहतरीन परफॉर्मर और भी कम कीमत में उपलब्ध हैं।
 

sony_xperia_x_dual_bottom_ndtv

सेल्युलर, वाई-फाई नेटवर्क और कॉल क्वालिटी से हम संतुष्ट हैं। एक्सपीरिया एक्स डुअल एक फ्रंट डुअल स्पीकर सेटअप के साथ आता है। ऐसे में वीडियो देखने और गाने सुनने के दौरान अच्छी आवाज़ आती है।

हेडफोन से आने वाली आवाज़ अच्छी है। बैटरी लाइफ संतोषजनक है, लेकिन इस प्राइस रेंज के बाकी हैंडसेट से काफी पीछे है। फोन की बैटरी हमारे वीडियो लूप टेस्ट में 10 घंटे 29 मिनट तक चली। आम इस्तेमाल में यह एक दिन तक चल जानी चाहिए। कुल मिलाकर एक्सपीरिया एक्स डुअल अपनी कीमत वाले अन्य हैंडसेट की तरह एक बेहतरीन परफॉर्मर नहीं है। ऐसे में हमारे लिए 48,990 रुपये की कीमत को वाजिब ठहरा पाना संभव नहीं है।
 

sony_xperia_x_dual_sim_ndtv

हमारा फैसला
सोनी के नए फ्लैगशिप एक्सपीरिया एक्स डुअल ने हमें मिला-जुला एहसास दिया। यह दिखने में एक खूबसूरत डिवाइस है जिसकी बनावट अच्छी है और स्क्रीन भी शानदार है। इसमें कई फ़ीचर से लैस एक कैमरा है जो ज्यादातर परिस्थितियों में अच्छी तस्वीरें लेता है। अफसोस की बात यह है कि इसमें कुछ बड़ी कमियां हैं। फोन गर्म होने वाली कमी को नज़रअंदाज नहीं किया जा सकता। इसके अलावा फिंगरप्रिंट सेंसर भी कई बार नाकाम होता है। सॉफ्टवेयर भी थोड़ा परेशान करने वाला है। यूआई बहुत आसान नहीं है।

हमारे लिए सबसे बड़ा मुद्दा इस फोन की कीमत है। सोनी जैसे बड़े ब्रांड के लिए थोड़ा ज्यादा कीमत वाजिब है, लेकिन इस बार कंपनी ने गलत फैसला किया है। एक्सपीरिया एक्स डुअल के लिए 15,000 रुपये भी बहुत ज्यादा हैं। भले ही सोनी को ऐसा लगता है कि बेहतर कैमरा टेक्नोलॉजी और ट्रिक्स उसकी सबसे अहम खासियत है, लेकिन एक्सपीरिया एक्स डुअल एक ऑलराउंडर फोन नहीं है।

अगर आप कई फ़ीचर से लैस एक पावरफुल फ्लैगशिप फोन खरीदने की योजना बना रहे हैं तो वनप्लस 3 हमेशा ही एक बेहतर विकल्प है और इसकी कीमत भी बहुत कम है। अगर आप टॉप ब्रांड की तलाश में हैं तो सैमसंग गैलेक्सी एस7 और एलजी जी5 (रिव्यू) कहीं बेहतर विकल्प हैं। एक्सपीरिया एक्स डुअल खराब फोन नहीं है। इसे सिर्फ सोनी के घोर प्रंशसक ही पसंद करेंगे, कम से कम जब तक इसकी कीमत यही रहती है।


Source link

Total Page Visits: 65 - Today Page Visits: 1