सैमसंग गैलेक्सी ए5 (2016) का रिव्यू

सैमसंग गैलेक्सी एस सीरीज स्मार्टफोन के बाद सबसे बेहतरीन स्मार्टफोन में गैलेक्सी ए सीरीज स्मार्टफोन की गिनती होती है। इस सीरीज के स्मार्टफोन कंपनी उन ग्राहकों के लिए बनाती है जो कम दाम में सैमसंग के प्रीमियम टैग वाले स्मार्टफोन खरीदना चाहते हैं। इन डिवाइस में सैमसंग की फ्लैगशिप एस सीरीज स्मार्टफोन जैसे फीचर नहीं होते लेकिन फिर भी सैमसंग गैलेक्सी ए सीरीज स्मार्टफोन काफी बेहतर होते हैं।

पिछले साल के आखिर में सैमसंग ने नए गैलेक्सी ए7, गैलेक्सी ए5 औरर गैलेक्सी ए3 स्मार्टफोन लॉन्च किये थे। आज हम सैमसंग गैलेक्सी ए5 स्मार्टफोन का रिव्यू कर पता लगाएंगे कि सैमसंग का यह स्मार्टफोन खरीदने लायक है या नहीं। सैमसंग के इस नए स्मार्टफोन में क्या हैं कमियां और खूबियां।

लुक और डिजाइन
जैसा कि सैमसंग के टीवी विज्ञापन में आपने देखा होगा कि गैलेक्सी ए5 में मेटल और ग्लास से बने डिजाइन का कंपनी ने खूब प्रचार किया है और यही इसकी खासियत है। सीधे शब्दों में कहें तो सैमसंग का यह स्मार्टफोन गैलेक्सी एस6 जैसे प्रीमियम स्मार्टफोन जैसा अहसास देता है। सैमसंग के इस हैंडसेट में आगे और पिछले हिस्से में कर्व्ड गोरिल्ला ग्लास 4 है जिससे यह अपनी पुरानी जेनरेशन के फोन से ज्यादा अच्छा दिखता और अहसास दिलाता है।
 

बात करें फोन के अगले हिस्से की तो इस स्मार्टफोन में 5.2 इंच फुल एचडी सुपर एमोलेड डिस्प्ले है जो सूरज की रोशनी में भी बेहतरीन और चमकदार रंग के साथ दिखती है।  ए5 के किनारे बेहद पतले हैं जिससे इसे एज-टू-एज लुक मिलता है।
 

सैमसंग के हर फोन की तरह ही नेविगेशन बटन उसी जगह पर हैं। फिंगरप्रिंट सेंसर होम बटन से ही काम करता है। लेकिन इनकमिंग अलर्ट के लिए इस स्मार्टफोन में कोई एलईडी नहीं दी गई है हेडफोन सॉकेट, माइक्रो-यूएसबी और स्पीकर ग्रिल नीचे की तरफ दिये गए हैं।
 

गैलेक्सी ए5 स्मार्टफोन (कोडनेम- ए510एफडी) को भारत में डुअल-सिम स्लॉट और माइक्रोएसडी कार्ड के साथ लॉन्च किया गया था। दायीं तरफ दी गई सिम ट्रे में एक प्राइमरी सिम और माइक्रोएसडी स्लॉट है जबकि फोन के ऊपर की तरफ सेकेंडरी सिम स्लॉट दिया गया है।
 

सैमसंग गैलेक्सी ए5 स्मार्टफोन खरीदने पर आपको 10 वाट का चार्जर, हेडसेट और एक सिम इजेक्टर टूल मिलता है। सैमसंग ने इस स्मार्टफोन की बनावट और डिजाइन पर बुहत शानदार काम किया है जिससे यह फ्लैगशिप स्मार्टफोन गैलेक्सी एस6 की तरह दिखता है। हालांकि, फोन के पिछले हिस्से पर दिये ग्लास की वजह से यह पकड़ने में थोड़ा फिसलता है। फोन में एलईडी नोटिफिकेशन की कमी काफी अखरती है।

स्पेसिफिकेशन और सॉफ्टवेयर
सैमसंग ने इस बार ना केवल फोन के डिजाइन बल्कि परफॉर्मेंस में भी काफी सुधार किया है। गैलेक्सी ए5 (2016) के भारत में बेचे जाने वाले फोन में ऑक्टा-कोर एक्सायनस 7580 प्रोसेसर दिया गया है। सैमसंग ने हाल ही में अपने मिड-रेंज स्मार्टफोन गैलेक्सी जे7 में भी इसी प्रोसेसर का इस्तेमाल किया है। हालांकि गैलेक्सी ए5 में दिया प्रोसेसर थो़ड़े सुधार (1.6 गीगाहर्ट्ज़ पर चलता है और 6एलटीई सपोर्ट करता है) के साथ चलत है।

फोन के बेंचमार्क के दौरान हमें ठीकठाक आंकड़े मिले लेकिन जीपीयू के आंकड़े थोड़े कम मिले।
 

फोन में 2 जीबी रैम के साथ 16 जीबी की इंटरनल स्टोरेज है। माइक्रोएसडी कार्ड की मदद से स्टोरेज को 128 जीबी तक बढ़ाया जा सकता है। इसके अलावा फोन में डुअल-बैंड वाई-फाई बी/जी/एन, ब्लूटूथ 4.1, एनएफीसी, एफएम रेडियो और यूएसबी ओटीजी जैसे कनेक्टिविटी फीचर हैं। ए5 दोनों सिम स्लॉट में 4जी सपोर्ट करता है हालांकि फोन में वीओएलटीई सपोर्ट नहीं है।

हालांकि गैलेक्सी ए5 (2016) का एंड्रॉयड लॉलीपॉप के साथ आना थोड़ा निराशाजनक है लेकिन लगता है कि सैमसंग ने मार्शमैलो को अपने फ्लैगशिप स्मार्टफोन गैलेक्सी एस7 के लिए बचाया हुआ था।
 

सैमसंग के एस हेल्थ और माय गैलेक्सी जैसे ऐप हैंडसेट में प्री-इंस्टॉल आते हैं। जे-सीरीज में दिया गया अल्ट्रा डेटा सेविंग मोड भी गैलेक्सी ए5 में मौजूद है। इसके अलावा फोन में माइक्रोसॉफ्ट और गूगल के कई पॉपुलर ऐप भी पहले से इंस्टॉल आते हैं।

परफॉर्मंस
फोन की जनरल परफॉर्मेंस काफी अच्छी है। लेकिन अगर आपने बैकग्राउंड में कई सारे ऐप एक साथ खोल रखे हैं तो फोन थोड़ा धीमा हो जाता है। लेकिन इसके अलावा फोन में कभी कोई समस्या हमें देखने को नहीं मिली। गेम खेलने और बहुत ज्यादा कैमरा इस्तेमाल के दौरान फोन गर्म तो होता है लेकिन आसानी से बिना किसी समस्या के चलता रहता है। 4जी नेटवर्क पर कॉल क्वालिटी में भी हमें कोई दिक्कत देखने को नहीं मिली।
 

फिगंरप्रिंट सेंसर काम तो करता है लेकिन यह हाल ही में लॉन्च कई फोन में दिए सेंसर जितना तेज नहीं है। 16 जीबी की इंटरनल स्टोरेज के बावजूद यूजर के इस्तेमाल की 11 जीबी ही है। लेकिन एक्सपेंडेबल स्टोरेज के चलते यह कोई बड़ी समस्या नहीं है।

चमकदार डिस्प्ले की वजह से मल्टीमीडिया प्लेबैक का अनुभव शानदार मिलता है। फुल-एचडी वीडियो और हाई बाइट्रेट फाइल भी अच्छे से प्ले होती हैं। मोनो स्पीकर से फोन की साउंड क्वालिटी काफी अच्छी रहती है।
 

ऑप्टिकल इमेज स्टेबिलाइजेशन और लार्ज अपर्चर एफ/1.9 के साथ आपको फोन के 13 मेगापिक्सल कैमरे से आपको दिन की रोशनी में बेहतरीन डिटेल लैंडस्केप तस्वीरें मिलती हैं। तस्वीरों का कलर रीप्रोडक्शन काफी अच्छा है। आर्टिफिशियल और कम रोशनी में ली गई तस्वीरें ज़ूम करने पर भी ठीकठाक दिखती है। कुल मिलाकर कैमरा क्वालिटी अच्छी है।
 

फुल-एचडी रिजॉल्यूशन में वीडियो भी काफी अच्छी होती हैं। अपर्चर एफ/1.9 के 5 मेगापिक्सल कैमरे के साथ इंडोर में भी डिटेल्ड सेल्फी ली जा सकती है। फोन से तस्वीर तो फटाफट ली जा सकती है लेकिन फोकस काफी धीमे होता है। यही दिक्कत वीडियो रिकॉर्डिंग में भी देखने को मिलती है। फेज डिटेक्शन ऑटोफोकस की कमी साफ दिखती है।

सैमसंग के फ्लैगशिप स्मार्टफोन में दिए गए कैमरे की अपेक्षा गैलेक्सी ए5 स्मार्टफोन में कैमरा उतना बेहतर नहीं है।  
 

बैटरी लाइफ
नए गैलेक्सी ए5 में 2900 एमएएच की दमदार बैटरी है। हालांकि इससे फोन की मोटाई और वजन में कुछ इजाफा हुआ है। लेकिन इससे कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि हमारे वीडियो लूप टेस्ट में फोन की बबैटरी लगातार 14 घंटे 42 मिनट तक चली। वहीं साधारण इस्तेमाल के दौरान हम बिना चार्ज किये फोन को डेढ़ दिन तक इस्तेमाल कर पाए। फोन में एडेप्टिव क्विक चार्जिंग तकनीक है और हम सिर्फ आधे घंटे में ही बैटरी 0 से 50 प्रतिशत तक चार्ज हो गई।

हमारा फैसला
सैमसंग ने गैलेक्सी ए5 स्मार्टफोन के साथ बेहतरीन काम किया है। इसकी बनावट और डिजाइन में सुधार के साथ ही गैलेक्सी ए सीरीज अब फ्लैगशिप एस सीरीज के काफी समीप आ गई है। हालांकि कंपनी ने फोन की कीमत पूरी तरह से गलत रखी है जिससे इस फोन को खरीदने के लिए सिफारिश नहीं की जा सकती। गैलेक्सी ए5 2016 की रिटेल कीमत करीब 28,500 रुपये है जो कि इसके सभी स्पेसिफिकेशन को देखते हुए काफी ज्यादा है।

गैलेक्सी ए5 तभी कामयाब है जबकि सैमसंग इसके दाम में कुछ सुधार कर दे। हमारे हिसाब से 20,000 रुपये की कीमत में इन सभी स्पेसिफिकेशन व फीचर के साथ आपको कई दूसरे बेहतर स्मार्टफोन मिल जाएंगे। गैलेक्सी ए5 की बनावट, डिजाइन, डिस्प्ले और बैटरी लाइफ बुहत अच्छी है। हमें कैमरा क्वालिटी भी पसंद आई लेकिन फोन को ज्यादा बेहतर तरीके से डिजाइन किया जा सकता था। लेकिन फोन में नोटिफिकेशन एलईडी ना देने की वजह हमें समझ नहीं आई।


Source link

Total Page Visits: 12 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply