Mobile Review

वीवो वी3 का रिव्यू

वीवो उन चीनी कंपनियों में से एक है जो अपना नाम लोगों तक पहुंचाने के लिए परंपरागत मार्केटिंग में यकीन करती है। निश्चित तौर पर आपने देश भर में नियोन लाइट कलर के वीवो साइनबोर्ड देखे होंगे और कंपनी के लेटेस्ट फोन के विज्ञापन से ट्रेनें भी रंगी पड़ी हैं।

वीवो ने अप्रैल में वी3 और वी3 मैक्स (रिव्यू) स्मार्टफोन लॉन्च किेए थे। तब से अब तक, वी3 के दाम में कटौती के बाद इसकी जगह 15,000 रुपये से कम कैटेगरी वाले ब्रांड में है। हालांकि, अब टक्कर पहले से ज्यादा कड़ी है। क्या वीवो वी3 दाम में कटौती के बाद भी एक आकर्षक फोन है? रिव्यू में जानें इस फोन की खूबियां और कमियां।

डिज़ाइन और बनावट
वीवो वी3 बिल्कुल अपने बड़े वेरिएंट की तरह ही दिकता है। वीवो वी3 मैक्स का डिजाइन भी बहुत ज्यादा अच्छा नहीं है। अगर फोन परर वीवो की ब्रांडिंग आगे की तरफ ना हो तो कोई भी आसानी से इसे ओप्पो एफ1 समझने की भूल कर सकता है। वी3 में नॉन-बैकलिट कैपेसिटिव नेविगेशन बटन और कर्व्ड ग्लास एज दिया गया है। हालांकि, इस फोन में स्क्रैच प्रोटेक्शन के बारे में कुछ स्पष्ट नहीं है लेकिन वीवो के मुताबिक स्मार्टफोन गोरिल्ला ग्लास प्रोटेक्शन से लैस है। फोन के साथ एक स्क्रीन गार्ड पहले से इंस्टॉल आता है।
 

वीवो वी3 का रिव्यू

5 इंच डिस्प्ले हमें इस फोन में अच्छा लगा और इससे यह फोन एक हाथ से पकड़ने में सुविधाजनक है और इस्तेमाल भी आासनी से होता है। आईपीएस डिस्प्ले से अच्छा कलर रीप्रोडक्शन और व्यूइंग एंगल मिलता है लेकिन इसका एचडी रिज़ॉल्यूशन सिर्फ (720×1280) पिक्सल ही है। टेक्स्ट और आइकन देखने में डिस्प्ले में कोई समस्या नहीं होती है। लेकिन इस कीमत वाले फोन में फुल एचडी डिस्प्ले जरूरी होता है और डिस्प्ले को ज्यादा शार्प भी किया जा सकता था।
 

वीवो वी3 का रिव्यू

वी3 का मेटल फ्रेम काफी मजबूत है और बटन एर्गोनोमिक तरह से दिए गए हैं। बायीं तरफ एक डुअल सिम ट्रे है और ऊपर की तरफ एक अलग माइक्रोएसडी कार्ड स्लॉट (128 जीबी तक) दिया गया है। इसी के पास एक हेडफोन शॉकेट भी है। वी3 में एक दमदार स्पीकर है जो एक डेडिकेटेड एम्पलिफायर चिप के साथ आता है। स्पीकर अच्छे से काम करता है। म्यूज़िक ट्रैक और वीडियो में आवाज अच्छी सुनाई देती है और आवाज आउटडर में भी शानदार लगती है। स्टीरियो स्पीकर के साथ स्पीकर और शानदार हो सकते थे लेकिन यह भी अच्छा है।
 

वीवो वी3 का रिव्यू

फोन के रियर पर दिए गए टेक्सचर से ग्रिप बहुत अच्छी नहीं मिलती इसलिए फोन थोड़ा स्लिपरी है। लेकिन फोन के साथ आने वाले सिलिकॉन केस से फोन पकड़ने में सुविधाजनक बनता है। इसके अलावा बॉक्स में एक हेडसेट, एक चार्जर, एक डेटा केबल, एक सिम इजेक्टर टूल और एक एयरटेल सिम मिलती है। इस सिम से आप अपने एयरटेल कनेक्शन को 4जी पर अपग्रेड कर सकते हैं। पावर एडेप्टर जरूरत से ज्यादा बड़ा है और फोन फास्ट चार्जिंग भी सपोर्ट नहीं करता।

स्पेसिफिकेशन और फीचर
वीवो वी3 में क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 616 ऑक्टा-कोर प्रोसेसर है। फोन में 3 जीबी रैम और 32 जीबी स्टोरेज है। एक बार फिर कह सकते हैं फोन में ऐसे स्पेसिफिकेशन भी नहीं हैं जो बुहत ज्यादा आकर्षित करें। इससे कम कीमत वाले फोन में भी हमने ये स्पेसिफिेकेशन देखे हैं। फोन डुअल बैंड वाई-फाई बी/जी/एन, ब्लूटूथ 4.0, जीपीएस, एफएम रेडियो, यूएसबी ओटीजी और 4जी एलटीई बैंड 1, 3, 5 और 40 सपोर्ट करता है।
 

वीवो वी3 का रिव्यू

फिंगरप्रिंट सेंसर रियर पर दिया गया है और काफी अच्छे से काम करता है। इसे कैमरे के शटर के तौर पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा इसका इस्तेमाल निजी फाइल और ऐप लॉक करने के लिए भी कर सकते हैं। वी3 फनटच ओएस 2.5 पर चलता है जो एंड्रॉयड लॉलीपॉप का कस्टम फोर्क है। लेकिन फोन में अभी तक मार्शमैलो का ना होना निराश करता है।

ओप्पो के कलरओएस 3.0 की तरह ही वी3 का इंटरफेस और फंक्शन बहुत हद तक ऐप्पल के आईओएस की तरह लगता है। हालांकि, अगर आप पहले से स्टॉक एंड्रॉयड फोन का इस्तेमाल करते रहे हैं तो आपको इसका आदी बनने में थोड़ा समय लगेगा। रीसेंट ऐप्स बटन मेन्यू बटन की तरह काम करते हैं और होमस्क्रीन पर इन पर टैप करने से विज़ट, ट्रांजिशन इफेक्ट और ऐप छिपाने जैसे विकल्प मिल जाएंगे। देर तक प्रेस करने या ऊपर से नीचे तक स्वैप करने से ऐप स्विचर खुल जाएगा और वाई-फाई, ब्लूटूथ आदि के बीच टॉगल कर सकते हैं।
 

वीवो वी3 का रिव्यू

वीवो के ऐप जैसे विज़़ुअल कस्टमाइज़ेशन के लिए आई थीम, डेटा मॉनीटर और ऐप मैनेज व उनकी परमिशन के लिए आई मैनेजर, वाई-फाई डायरेक्ट का इस्तेमाल कर फाइल ट्रांसफर प्री-इंस्टॉल आते हैं। इसके अलावा आपके बुकमार्क, मैसेज, कॉन्टेक्ट और नोट्स के लिए वीवो क्लाउड भी विकल्प हैं। फोन में व्हाट्सऐप, वीचैट, फेसबुक और डब्ल्यूपीएस ऑफिस प्री-इंस्टॉल आते हैं।
 

वीवो वी3 का रिव्यू

सेटिंग ऐप में की सारे नए कंट्रोल जैसे गेस्चर, एयर ऑपरेशन भी हैं जिससे हथेली में फोन आने पर एक्टिव हो जाता है। स्मार्ट मल्टी स्क्रीन से कोई अलर्ट मिलने पर फ्लोटिंग नोटिफिकेशन मिलता है और खोलने पर आधे स्क्रीन पर दिखता है। यह तभी काम करता है जब आप स्टॉक प्लेयर के जरिए कोई वीडियो या फिर गूगल प्ले मूवीज और यूट्यूब फुल स्क्रीन मोड पर देख रहे हों।

परफॉर्मेंस
पहली बार देखने पर फोन का इंटरफेस थोड़ा कन्फ्यूज़ करने वाला लगता है लेकिन यह काम आसानी से करता है। मल्टी-टास्किंग आसान है और फोन में आसानी से भारी भरकम ऐप और गेम बिना किसी समस्या के चलते हैं। बेंचमार्क टेस्ट में हमें फोन से ठीकठाक आंकड़े मिले। दोनों सिम स्लॉट पर 4जी अच्छे से काम करता है और कॉल के दौरान ईयरपीस से अच्छी आवाज मिलती है। वीवो वी3 पकड़ने में सुविधाजनक है और छोटे साइज़ की वजह से इसे इस्तेमाल करना आसान है। गेम खेलने के दौरान थो़ड़ी हीटिंग के अलावा हमें ओवरहीटिंग की समस्या फोन में नहीं हुई।
 

वीवो वी3 का रिव्यू

वी3 से 4के क्षमता वाली वीडियो प्ले की जा सकती है लेकिन 1080 पिक्सल वीडियो भी कोई समस्या नहीं है। फोन में हमारी हाई बाइट्रेट फाइल भी आसानी से चलती हैं। म्यूज़क प्लेयर फ्लैक सपोर्ट करता है और स्पीकर से ऑडियो क्वालिटी भी अच्छी मिलती है। फोन के साथ आने वाला हेडसेट बहुत अच्छी क्वालिटी का नहीं है।

13 मेगापिक्सल रियर कैमरा फेज़ डिटेक्शन ऑटोफोकस (पीडीएएफ) के साथ आता है जिससे सब्जेक्ट को आसानी से लॉक हो जाते हैं। दिन की रोशनी में तस्वीरें अच्छी आती हैं और फोन के डिस्प्ले पर सुंदर दिखती हैं। लेकिन ज़ूम करने पर थोड़ी बिखर जाती हैं। मैक्रो तस्वीरों में भी यही दिक्कत देखने को मिली और फोकस किए हुए सब्जेक्ट में शार्पनेस की कमी भी झलकती है। स्टैंडर्ड तस्वीरों को डल दिखने से रोकने के लिए बेहतर होगा कि एचडीआर मोड का इस्तेमाल करें। फोन में सेल्फी लेने के लिए दिया गया 8 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा अच्छा है।

वीवो वी3 का रिव्यू
वीवो वी3 का रिव्यू
वीवो वी3 का रिव्यू

फोन से 1080 पिक्सल तक की रिकॉर्डिंग की जा सकती है लेकिन क्वालिटी औसत ही आती है। कम रोशनी में वीडियो और तस्वीरें बहुत खराब आती हैं। कैमरा ऐप अच्छे से डिजाइन किया गया है और इसमें फिल्टर, वाटरमार्क और टच या वॉयस ट्रिगर्ड कैप्चर जैसे विकल्प हैं। रियर कैमरे में एचडीआर, पैनौरमा, नाइट, प्रोफेशनल, स्लो-मोशन वीडियो और हाइपर लैप्स वीडियो जैसे कई शूटिंग मोड हैं।

फोन में दी गई 2550 एमएएच की बैटरी बहुत बड़ी नहीं लगती लेकिन कम स्क्रीन रिज़ॉल्यूशन और बहुत दमदार प्रोसेसर ना होने की वजह से हमारे वीडियो प्लेबैक में यह 11 घंट 31 मिनट तक चली। वहीं सामान्य इस्तेमाल के दौरान एक बार चार्ज करने के बाद हम इसे एक दिन से ज्यादा चला पाए। यह फोन फास्ट चार्जिंग सपोर्ट नहीं करता है लेकिन कम क्षमता वाली बैटरी चार्ज होने में बहुत लंबा समय नहीं लगाती।
 

वीवो वी3 का रिव्यू

हमारा फैसला
वीवो वी3 एक शानदार प्रोडक्ट है लेकिन समस्या है कि इसे आसानी से दूसरे कई स्मार्टफोन टक्कर देने के लिए कतार में हैं। मोटो जी4 प्लस (रिव्यू), रेडमी नोट 3 (रिव्यू) और लेईको ले 2 (रिव्यू) में ज्यादा बेहतर स्पेसिफिकेशन हैं और डिस्प्ले क्वालिटी, कैमरा और सीपीयू परफॉर्मेंस के मामले में वी3 से कहीं बेहतर हैं। वी3 आज थोड़ा पुराना फोन महसूस होता है और 14,980 रुपये की नई कीमत के बावूद यह आकर्षित नहीं करता है। इसके अलावा हम कन्फ्यूज़ करने वाली वीवो की कस्टम एंड्रॉयड फोर्क के भी फैन नहीं हैं।

हालांकि, फोन की बैटरी लाइफ अच्छी है और फोन का साइज़ भी हमें पसंद आया। फोन में ऑडियो परफॉर्मेंस स्पीकर व हेडफोन दोनों से अच्छी मिलती है।


Source link

Total Page Visits: 77 - Today Page Visits: 1